18 Dec 2017, 17:57 HRS IST
  • दुर्घटनावश कुएं में गिर अचेत तेंदुआ
    दुर्घटनावश कुएं में गिर अचेत तेंदुआ
    पार्वती घाटी में भारी बर्फवारी का नजारा
    पार्वती घाटी में भारी बर्फवारी का नजारा
    हमदाबाद : गुजरात चुनाव के अवसर पर मतदाताओं की भीड
    हमदाबाद : गुजरात चुनाव के अवसर पर मतदाताओं की भीड
    अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वोट डालने के बाद
    अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वोट डालने के बाद
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम मुलाकात
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
    • मुलाकात
    • रेटिंग   Rating Rating Rating Rating Rating
  •  
  • छह साल में 10 गुणा बढ़ जायेगा वीडियो गेमिंग कारोबार
  • [ - ] आकार [ + ]
  • .

    उमेश सिंह

    नयी दिल्ली, 06 फरवरी :भाषा:उद्योग जगत के अनुमानों के अनुसार कार रेसिंग, शूटिंग और दूसरी तरह के वीडियो गेमिंग में लोगों, खास कर बच्चों की बढ़ती रचि और इंटरनेट सेवाओं में सुधार एवं मोबाइल एवं कंप्यूटर के बढ़ते इस्तेमाल को देखते हुये वर्ष 2020 तक देश में वीडियो गेमिंग कारोबार 25-30 अरब डालर तक पहुंच जाने की संभावना है।वीडियो गेमिंग कंपनी नॉडविन के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अक्षत राठी ने बताया कि फिलहाल देश में वीडियो गेमिंग कारोबार 2 से 3 अरब डालर का है, जो प्रतिवर्ष 60 से 70 फीसद की रफ्तार से बढ़ रहा है।वीडियो गेमिंग कारोबार में मोबाइल खंड का कुल योगदान करीब 80 फीसद है।जबकि सोनी, नोकिया जैसे प्लेस्टेशन की भागीदारी 10 से 15 प्रतिशत और पीसी खंड की भागीदारी 15 से 20 प्रतिशत है।राठी ने बताया कि स्मार्टफोन आने के बाद से वीडियो गेमिंग के परिदृश्य में बदलाव आया है और अब लोग पहले से अधिक वीडियो गेम खेलने लगे हैं।3जी सेवा शुरू होने और स्मार्टफोन की तकनीक अधिक उन्नत होने पर इसमें और अधिक तेजी आने की संभावना है। राठी ने बताया कि देश में वीडियो गेमिंग कारोबार करने वाली करीब 26 कंपनियां हैं।इन्हें एक संगठन में जुड़ने के लिए 26 फरवरी को बेंगलूर में एक बैठक आयोजित की गई है।कुल 21 कंपनियों ने बैठक में आने की मंजूरी दी है।राठी ने कहा, ‘‘वीडियो गेमिंग कारोबार में बहुत मुश्किलें हैं।सरकार ने इनके आयात पर 80 फीसद का सीमाशुल्क लगा रखा है, जिसके कारण ज्यादातर कंपनियां आन.लाइन ही वीडियो गेम आयात कर लेते हैं और सरकार को इससे कुछ भी राजस्व नहीं मिलता। हम चाहते हैं कि सरकार हिंसा अथवा अश्लील प्रकार के वीडियो गेम को प्रतिबंधित करे और कंपनियों के बीच स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा के लिए कोई नियामक स्थापित करे।’’ राठी ने बताया कि हरियाणा ओलंपिक संघ ने वीडियो गेमिंग को स्पोर्ट्स में शामिल करने के लिए अपनी प्राथमिक मंजूरी दी है।राठी ने कहा, ‘‘हमने खेल-कूद में सबसे अव्वल रहने वाले राज्य के हरियाणा ओलंपिक संघ से वीडियो गेमिंग को स्पोर्ट्स में शामिल करने की सिफारिश की थी।सरकार ने प्राथमिक रूप से हमारी मांग मान ली है और आगामी 18 फरवरी को एक बैठक के लिए आमंत्रित किया है। उम्मीद है जल्द ही भारत में भी वीडियो गेमिंग को स्पोर्ट्स की तरह स्वीकार कर लिया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका, चीन और कोरिया में वीडियो गेमिंग को स्पोर्ट्स का दर्जा मिला हुआ है और प्रतिवर्ष पेरिस में इलेक्ट्रिानिक स्पोर्ट्स वर्ल्ड कप :ईएसडब्लयूसी: का आयोजन किया जाता है।2013 के ईएसडब्लयूसी में भारत को पूरी दुनिया में 24वीं रैंकिंग मिली थी, जबकि उससे पहले वीडियो गेमिंग में भारत की रैंकिंग 155वीं थी।कोरिया में आठ टीवी चैनल चौबीस घंटे सातो दिन वीडियो गेमिंग संबंधी कार्यक्रमों का प्रसारण करते हैं और पूरी तरह से वीडियो गेमिंग पर केन्द्रित हैं।संपादकीय सहयोग-अतनु दास






      

रेट दें
Submit
  • इस मुलाकात पर अपनी राय दें
  • अन्य मुलाकात
  •     
add