23 Jul 2019, 06:39 HRS IST
  • बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम मुलाकात
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
    • मुलाकात
    • रेटिंग   Rating Rating Rating Rating Rating
  •  
  • सेरेना पर विम्बलडन में मिली जीत खास : कोर्नेट
  • [ - ] आकार [ + ]
  • .
                                                          अमनप्रीत सिंह

    नयी दिल्ली, 20 नवंबर : भाषा : इस साल तीन बार सेरेना विलियम्स को हराकर सुखिर्यों में आई फ्रांस की एलिजे कोर्नेट ने कहा कि दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी की दमदार सर्विस का जवाब उसने लगातार लंबी और थकाउ रेली के जरिये दिया।
    18 बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन सेरेना इस सत्र में सिर्फ नौ मुकाबले हारी जिनमें से तीन में उसे दुनिया की 19वीं नंबर की खिलाड़ी कोर्नेट ने हराया।
    दुबई और विम्बलडन में कोर्नेट ने शानदार जीत दर्ज की जबकि वुहान में मुकाबला पूरा नहीं हो सका क्योंकि सेरेना ने बीच में कोर्ट छोड़ दिया।
    सीटीएल में मुंबई टीम के लिये खेल रही कोर्नेट ने पीटीआई को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘‘उसे साल में तीन बार हराना अद्भुत रहा लेकिन विम्बलडन में मिली जीत खास थी।वह महिला टेनिस में शिखर पर है और बेहतरीन खेल रही है। निश्चित तौर पर यह मेरे कैरियर की सबसे बड़ी जीत थी।’’


    यह पूछने पर कि उसने सेरेना को हराने के लिये क्या रणनीति बनाई, उसने कहा ,‘‘ सेरेना पहले शाट यानी सर्विस और रिटर्न में बेजोड़ है।मैं लंबी रेलियां लगा रही थी ताकि उसे दौड़ने पर मजबूर कर सकूं।


    ’’ उसने कहा ,‘‘ सभी जानते हैं कि वह ज्यादा दौड़ने की आदी नहीं है।मैने उसे कोर्ट पर खूब दौड़ाया क्योकि उसके खिलाफ सिर्फ डिफेंस से काम नहीं चलता।मैने आक्रामकता भी शामिल की।’’


    कोर्नेट ने कहा कि सेरेना को हराकर उसे यकीन हो गया कि वह दुनिया में किसी को भी हरा सकती है।संपादकीय सहयोग-अतनु दास

रेट दें
Submit
  • इस मुलाकात पर अपनी राय दें
  • अन्य मुलाकात
  •     
add