22 Apr 2019, 23:33 HRS IST
  • नामांकन दाखिल करने से पहले उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी, हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के साथ विजय चिह्न दिखाते हुये
    नामांकन दाखिल करने से पहले उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी, हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के साथ विजय चिह्न दिखाते हुये
    बैसाखी उत्सव में स्वर्ण मंदिर के सरोवर डुबकी लगाते श्रद्धालु
    बैसाखी उत्सव में स्वर्ण मंदिर के सरोवर डुबकी लगाते श्रद्धालु
    रंगोली बीहू उत्सव में बीहू नृत्य करते कलाकार
    रंगोली बीहू उत्सव में बीहू नृत्य करते कलाकार
    बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर श्रद्धांजलि देते राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री
    बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर श्रद्धांजलि देते राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम मुलाकात
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
    • मुलाकात
    • रेटिंग   Rating Rating Rating Rating Rating
  •  
  • राजेश खन्ना ने मेरे गीत को अमर बना दिया: मन्ना डे
  • [ - ] आकार [ + ]
  • दीपक सेन
    नयी दिल्ली, 18 जुलाई :भाषा: हिन्दी फिल्मों के पहले महानायक राजेश खन्ना की कालजयी फिल्म ‘आनंद’ के सुपरहिट गीत ‘जिंदगी कैसी है पहेली’ के गायक मन्ना डे ने कहा कि उनका :राजेश खन्ना: जाना फिल्मोद्योग के लिए बहुत बड़ी क्षति है और उनके अभिनय ने उस गीत को अमर बना दिया।मन्ना डे ने बंेगलूर से ‘भाषा’ को फोन पर बताया, ‘‘राजेश खन्ना के फिल्म ‘आनंद’ में किए गए यादगार अभिनय ने मेरे गीत ‘जिंदगी कैसी है पहेली..’ को अमर बना दिया और मैं उनका हमेशा आभारी रहूंगा।’’ मोहम्मद रफी, मुकेश और किशोर कुमार के समकालीन मन्ना डे ने कहा, ‘‘राजेश खन्ना के जाने से हिन्दी फिल्मोद्योग ने एक बेहतरीन अभिनेता को खो दिया और यह हमारे लिए बहुत बड़ी क्षति है।’’ हिन्दी, बांग्ला और मराठी सहित कई भाषाओं में करीब साढ़े तीन हजार से अधिक गीतों के गायक ने बताया, ‘‘इस वक्त किशोर कुमार के राजेश खन्ना के लिए गाये गीतों को सुन रहा हूं और सोच रहा हूं कि वह कैसा दौर था जब एक गायक के गीतों को एक अभिनेता अपने अभिनय से कालजयी बना देता था।’’ दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित मन्ना दा ने कहा, ‘‘मुझे ऐसा लग रहा हैं कि किशोर कुमार के बाद कोई गायक ही नहीं हुआ और यह सब एक अभिनेता के बेमिसाल अभिनय के कारण होता था।’’ अपने गीत ‘जिंदगी कैसी है पहेली..’ से जुड़े अनुभव के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इस वक्त मैं इस बारे में कुछ भी कहने में खुद को असमर्थ पा रहा हूं।’’ गौरतलब है कि हिन्दी फिल्मों के पहले महानायक राजेश खन्ना का आज मुबई में 69 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है।सहयोग- अतनु दास

रेट दें
Submit
  • इस मुलाकात पर अपनी राय दें
  • अन्य मुलाकात
  •     
add