16 Oct 2019, 07:46 HRS IST
  • मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम मुलाकात
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
    • मुलाकात
    • रेटिंग   Rating Rating Rating Rating Rating
  •  
  • नेट पर और वार्मअप मैचों में कड़ी मेहनत करूंगा : भुवनेश्वर
  • [ - ] आकार [ + ]
  • :मोना पार्थसारथी :

    नयी दिल्ली, 29 मई : भाषा : चैम्पियंस ट्राफी के लिये इंग्लैंड की पिचें तेज गेंदबाजों के अनुकूल होने से भुवनेश्वर कुमार उत्साहित नहीं है और उनका कहना है कि अनुशासित गेंदबाजी के लिये वह नेट और अभ्यास मैचों में कड़ी मेहनत करेंगे।चैम्पियंस ट्राफी के लिये रवानगी से पहले भाषा को दिये इंटरव्यू में भारतीय टीम के इस युवा तेज गेंदबाज ने कहा ,‘‘ यह मेरा पहला इंग्लैंड दौरा है लेकिन मैने काफी सुना है कि वहां हालात तेज गेंदबाजों के अनुकूल होंगे।मैं हालांकि इससे उत्साहित नहीं हूं क्योंकि सिर्फ अनुकूल हालात से सफलता नहीं मिलती ।’’ इंग्लैंड के स्टार बल्लेबाज केविन पीटरसन से लेकर भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी तक सभी ने इंग्लैंड की पिचों पर मिलने वाली स्विंग के कारण भारतीय तेज गेंदबाजों के अच्छे प्रदर्शन का यकीन जताया है।भारतीय टीम में भुवनेश्वर के अलावा ईशांत शर्मा, उमेश यादव , विनय कुमार और इरफान पठान तेज गेंदबाजी का जिम्मा संभालेंगे जबकि स्पिन की कमान आर अश्विन और अमित मिश्रा के हाथ में रहेगी।पिछले साल दिसंबर में पाकिस्तान के खिलाफ एक दिवसीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले भुवनेश्वर ने कहा ,‘‘ मेरा फोकस लाइन और लैंग्थ पर रहेगा।अनुशासित गेंदबाजी करने से ही सफलता मिलेगी।सबसे जरूरी हालात के अनुकूल खुद को जल्दी ढालना होगा।कोशिश करूंगा कि नेट पर ज्यादा से ज्यादा मेहनत करूं और अभ्यास मैचों का पूरा फायदा उठा सकूं।’’ भारत को एक और चार जून को अ5यास मैच खेलने हैं।चैम्पियंस ट्राफी में भारत का पहला मैच छह फरवरी को दक्षिण अफ्रीका से होगा।अब तक आठ वनडे मैचों में नौ विकेट ले चुके भुवनेश्वर ने कहा कि भले ही चैम्पियंस ट्राफी उनके अंतरराष्ट्रीय कैरियर में अब तक का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है लेकिन वह कतई नर्वस नहीं है।उन्होंने कहा ,‘‘ मैं बिल्कुल नर्वस नहीं हूं । मैने कोई विशेष तैयारी भी नहीं की है और ना ही अपनी गेंदबाजी तकनीक में कोई बदलाव किया है।मेरा भरोसा बेसिक्स पर डटे रहने पर है और उम्मीद है कि लाइन और लैंग्थ बरकरार रखकर मैं सफलता हासिल कर सकूंगा।’’ इंडियन प्रीमियर लीग में पुणे वारियर्स के लिये खेलने वाले मेरठ के इस तेज गेंदबाज का कहना है कि उनकी टीम भले ही आठवें स्थान पर रही लेकिन उन्हें बेहतरीन बल्लेबाजों के खिलाफ पर्याप्त अभ्यास मिला।उन्होंने कहा ,‘‘ रणजी ट्राफी में उत्तर प्रदेश फाइनल तक पहुंचा। उसके बाद आईपीएल में पुणे ने 16 लीग मैच खेले जो अ5यास की दृष्टि से कम नहीं है । अब टी20 प्रारूप से एक दिवसीय प्रारूप में खुद को ढालने की चुनौती है जो अधिक मुश्किल नहीं होगी ।’’ रणजी ट्राफी फाइनल में मुंबई के स्टार बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को घरेलू क्रिकेट में पहली बार शून्य पर आउट करने वाले भुवनेश्वर ने कहा कि सीनियर खिलाड़ियों और खास तौर पर टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार से उन्हें चैम्पियंस ट्राफी के लिये कई उपयोगी टिप्स मिले हैं।उन्होंने कहा ,‘‘ सीनियर्स से बात करने से हमेशा कुछ नया सीखने को मिलता है। उनके अलावा प्रवीण कुमार ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है जो मेरे शहर और एक ही अकादमी से है । उम्मीद है कि मैं उनकी अपेक्षाओं पर खरा उतर सकूंगा ।’’संपादकीय सहयोग-अतनु;दास

रेट दें
Submit
  • इस मुलाकात पर अपनी राय दें
  • अन्य मुलाकात
  •     
add