26 May 2020, 15:35 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम मुलाकात
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
    • मुलाकात
    • रेटिंग   Rating Rating Rating Rating Rating
  •  
  • केजी से लेकर यूपीएससी तक प्लेटफॉर्म प्रदान कर रहा है ‘इकोवेशन’
  • [ - ] आकार [ + ]
  • लर्निंग ग्रुप का चयन कर सकते हैं। 

        उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि पीएचडी कर चुकी उनकी एक सहकर्मी बिहार के 1200 बच्चों को इकोवेशन के माध्यम से पढ़ा रही हैं। 
        उनके इस मॉडल में शिक्षक अपने ऐसे लर्निंग ग्रुप शुरू कर सकते हैं जिनमें पढ़ने वाले शुल्क अदा कर सकते हैं। ऐसे लोग भी अपने समूह बना सकते हैं जो परंपरागत रूप से शिक्षक नहीं हैं लेकिन अपने क्षेत्र में ज्ञान रखते हैं। इसी तरह के कुछ इंजीनियर, आईआईएम से पढ़ाई कर चुके मैनेजर योगदान दे रहे हैं। 
       रितेश ने बताया कि इकोवेशन पर 2500 ऐसे लर्निंग समूह हैं जिनमें करीब 90 प्रतिशत बच्चे निशुल्क पढ़ रहे हैं। पांच प्रतिशत संपन्न बच्चे ही भुगतान करते हैं। स्कूली शिक्षा में तो पेड ग्रुप ना के बराबर हैं। इसके माध्यम से आप कहीं भी रहकर पढ़ सकते हैं।
        रितेश ने बताया कि सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान का भी सकारात्मक लाभ उन्हें मिल रहा है। उन्होंने दावा किया कि पिछले साल नवंबर में नोटबंदी के सरकार के फैसले के बाद हमारी आय 40 प्रतिशत बढ़ गयी। 
       उन्होंने दावा किया कि पिछली बार जेईई मुख्य परीक्षा पास करने वाले करीब 1025 लोग इस मंच से जुड़े थे। इनमें से 170 ने जेईई एडवांस्ड परीक्षा उत्तीर्ण की।
        इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनकी खुद की आय के मॉडल के सवाल पर रितेश ने कहा कि हम लोगों को मंच प्रदान करते हैं और प्रशिक्षक अपने छात्रों से जो राशि प्राप्त करते हैं उसका 15 से 20 प्रतिशत हमें यह प्लेटफॉर्म प्रदान करने के ऐवज में देते हैं। 
भाषा 

 

    रेट दें
    Submit
    • इस मुलाकात पर अपनी राय दें
    • अन्य मुलाकात
    •     
    add