21 Oct 2017, 08:26 HRS IST
  • इलाहाबाद में दिपवली की धूम का नजारा
    इलाहाबाद में दिपवली की धूम का नजारा
    नागपुर में दिवाली मनातीं महिलायें
    नागपुर में दिवाली मनातीं महिलायें
    पर्रगवाल: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दिपावली मनाते बीएसएफ के जवान
    पर्रगवाल: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दिपावली मनाते बीएसएफ के जवान
    हानओवर : उगते सूर्य के साथ रोमन ईश्वर की अराधना करते
    हानओवर : उगते सूर्य के साथ रोमन ईश्वर की अराधना करते
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • ईसाई प्रचारक के खिलाफ मामला दर्ज

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:32 HRS IST

मन्नार, 21 अप्रैल :भाषा: एक ‘‘सरकारी जमीन’’ पर 30 फुट लंबा धातु का क्रॉस स्थापित कराने के सिलसिले में एक ईसाई प्रचारक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है । राजस्व अधिकारियों ने बाद में इस कथित सरकारी जमीन से क्रॉस हटा दिया । पुलिस ने आज बताया कि ‘यीशू की आत्मा’’ के प्रचारक टॉम स्केरिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 447 और भू-संरक्षण कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है।

उदमबनचोला के अतिरिक्त तहसीलदार की शिकायत के आधार पर यह प्राथमिकी दर्ज की गई ।

पर्वतीय इलाके के उपर ‘आध्यात्मिक पर्यटन’ की आड़ में लगवाया गया क्रॉस कल मशीनों की मदद से हटाया गया ।

अधिकारियों ने बताया कि खुद को ‘‘यीशू की आत्मा’’ कहने वाले कुछ लोगांे की ओर से कथित तौर पर अतिक्रमित 30 एकड़ जमीन पर क्रॉस स्थापित कराया गया था ।

केरल कैथलिक बिशप्स कांफ्रेंस ने जून 2001 में स्केरिया की धार्मिक गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी थी ।

इस बीच, मुख्यमंत्री पी विजयन की ओर से ‘‘अतिक्रमित’’ जमीन से क्रॉस हटाने पर ‘‘नाखुशी’’ जाहिर करने को लेकर भाजपा ने आज उन्हें आड़े हाथ लिया ।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कुम्मनम राजशेखरन ने पत्रकारों को बताया कि क्रॉस हटाने को लेकर हुआ विवाद ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’ है ।

खबरों के मुताबिक, क्रॉस हटाने पर नाखुशी जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था, ‘‘एक बड़े तबके की आस्था से जुड़े क्रॉस के प्रतीक में क्या गलत था ? ऐसे प्रतीक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अधिकारियों को सरकार से संपर्क करना चाहिए था ।’’ उन्होंने कहा कि सरकार ने मामले को ‘‘बहुत गंभीरता’’ से लिया है ।

कुम्मनम ने सवाल किया कि मुख्यमंत्री अब क्रॉस हटाने पर नरम रवैया क्यों अपना रहे हैं जबकि पहले उन्होंने ही एक सुन्नी संप्रदाय की ओर से मस्जिद बनाने के कदम की आलोचना की थी ।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।