19 Aug 2017, 20:5 HRS IST
  • मासोन: रूस की स्वेतलाना कुज्नेत्सोवा रिवर्स शॉट लगाती हुई
    मासोन: रूस की स्वेतलाना कुज्नेत्सोवा रिवर्स शॉट लगाती हुई
    कोलकाता: सतरंगी छाते की छांव में ग्राहकों का इंतजार करती फल विक्रेता
    कोलकाता: सतरंगी छाते की छांव में ग्राहकों का इंतजार करती फल विक्रेता
    दिल्ली: उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को गुलदस्ता भेंट करते किरेन रिजीजू
    दिल्ली: उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को गुलदस्ता भेंट करते किरेन रिजीजू
    मुंबई: लैक्मे फैशन वीक—2017 में प्रदर्शन के दौरान अभिनेत्री दिया मिर्जा
    मुंबई: लैक्मे फैशन वीक—2017 में प्रदर्शन के दौरान अभिनेत्री दिया मिर्जा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • अमरनाथ यात्रा पर कोई खतरा नहीं: गिलानी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:44 HRS IST

श्रीनगर, 19 जून :भाषा: हुर्यित कांफ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि इस महीने के आखिर में शुरू होने वाली वाषर्कि अमरनाथ यात्रा पर कोई खतरा नहीं है और श्रद्धालु Þ Þहमारे प्यारे मेहमान Þ Þ हैं जिनकी सालों पुरानी परंपराओं के अनुरूप अगवानी की जाएगी।

उन्होंने कल देर रात यहां जारी किए गए एक बयान में कहा, Þ Þआगामी यात्रा पर आतंकी खतरे की बात सरासर झूठ है जिसका मकसद :कश्मीर की: आजादी के आंदोलन को बदनाम करना है। कश्मीरी किसी भी धर्म या उसे मानने वाले लोगों के खिलाफ नहीं है। हालांकि वे अपने मौलिक अधिकारों के लिए एक जायज संघर्ष कर रहे हैं। Þ Þ गिलानी ने कहा कि कश्मीर के लोग श्रद्धालुओं को सर्वश्रेष्ठ आतिथ्य मुहैया कराने की सालों पुरानी परंपरा को बरकरार रखते हुए हमेशा से, खासकर अमरनाथ याóाियों के प्रति, मैत्रीपूर्ण एवं उदार रहे हैं। Þ Þ उन्होंने कहा, Þ Þयात्रा दशकों से चली आ रही है और यहां के लोग श्रद्धालुओं के साथ हमेशा से आतिथ्य भाव से पेश आए हैं। वे हमेशा से आतिथ्यभाव से भरे, स5य रहे हैं और श्रद्धालुओं का अपने मेहमानों की तरह स्वागत किया है। Þ Þ अलगाववादी नेता ने श्रद्धालुओं को आश्वस्त किया कि उनपर कोई खतरा नहीं है और आरोप लगाया कि खतरे की खबरें Þ Þभारतीय मीडिया का प्रतिकूल दुष्प्रचार है। Þ Þ उन्होंने 2008, 2010 और 2016 में घाटी में व्याप्त स्थिति की तरफ संकेत करते हुए कहा कि उन परिस्थतियों में भी रोकटोक के बावजूद लोगों ने श्रद्धालुओं का बांहें खोलकर स्वागत किया और उन्हें आश्रय एवं भोजन उपलब्ध कराए।

गिलानी ने कहा, Þ Þयह हमारी सालों पुरानी परंपरा है और भविष्य में भी हम इसी भावना का पालन करेंगे तथा अपने प्यारे मेहमानों के तौर पर याóाियों का स्वागत करेंगे। Þ Þ यात्रा 29 जून से शुरू होगी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।