29 Jun 2017, 00:37 HRS IST
  • वॉशिंगटन: मीडीया के सामने साझा वक्तव्य जारी करते मोदी—ट्रंप
    वॉशिंगटन: मीडीया के सामने साझा वक्तव्य जारी करते मोदी—ट्रंप
    मुंबई: भारी बारिश के बाद पानी से भरी गली से गुजरते लोग
    मुंबई: भारी बारिश के बाद पानी से भरी गली से गुजरते लोग
    हैदराबाद: किदांबी श्रीकांत संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए
    हैदराबाद: किदांबी श्रीकांत संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए
    जम्मू : अमरनाथ तीर्थ बोर्ड द्वारा चिकित्सा शिविर का आयोजन
    जम्मू : अमरनाथ तीर्थ बोर्ड द्वारा चिकित्सा शिविर का आयोजन
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • मानसून ग्रामीण मांग में तेजी का संकेत, आरबीआई कर सकता है ब्याजदर में कटौती : बोफाएमएल

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:53 HRS IST

नयी दिल्ली, 19 जून :भाषा: निम्न मुद्रास्फीति दबाव के बीच इस बार मानसून का अच्छा रहना ग्रामीण मांग में तेजी आने और दो अगस्त को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा ब्याजदर में कटौती का संकेत है।

बैंक ऑफ अमेरिका मेर्लि लींच :बोफाएमएल: के अनुसार उम्मीद है कि मानसून अच्छा रहने से दो अगस्त को आरबीआई द्वारा नीतिगत दर में 0.25 फीसद की कटौती हो सकती है और जून में उपभोक्ता मुद्रास्फीति खाद्य पदार्थ के दाम गिरने से दो फीसद के नीचे जा सकता है।

उसकी रिपोर्ट के अनुसार मध्य जून तक वर्षा सामान्य से 10 फीसद से अधिक रही जिससे खरीफ बुवाई पिछले साल की तुलना में छह फीसद बढ़ गयी।

रिपोर्ट में कहा गया है, Þ Þ2019 के चुनाव से पहले न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि, कृषि रिण की माफी ओर ब्याजदर में सब्सिडी दिये जाने के साथ ही इस बार अच्छी वर्षा होने से ग्रामीण मांग में तेजी आनी चाहिए । Þ Þ इस बड़ी वैश्विक वि}ाीय सेवा प्रदाता कंपनी ने कहा कि यदि वर्षा वाकई सामान्य रही तो खुदरा मुद्रास्फीति इस वि}ा वर्ष की पहली छमाही में औसतन तीन फीसद होगी।

उसने कहा, Þ Þरोजाना के आंकड़े बताते हैं कि जून में खाद्य मुद्रास्फीति अच्छी रबी फसल के चलते तेजी से गिर रही है। इससे जून में मुद्रास्फीति मई के 2.2 फीसद से घटकर दो फीसद के नीचे आ जाएगी। Þ Þ

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।