17 Jan 2018, 16:20 HRS IST
  • बोधगया में विश्व शांति प्रार्थना में भाग लेते दलाई लामा
    बोधगया में विश्व शांति प्रार्थना में भाग लेते दलाई लामा
    एम्स के 45वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    एम्स के 45वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    मुंबई के अरोली क्रीक में क्रीड़ा करती हंस
    मुंबई के अरोली क्रीक में क्रीड़ा करती हंस
    गणतंत्र दिवस परेड के रिहर्सल का नजारा
    गणतंत्र दिवस परेड के रिहर्सल का नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • हजारों साल पुरानी खोपड़ी से चेहरा बनाने के लिए थ्री डी तकनीक का इस्तेमाल

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:17 HRS IST

लंदन, 17 जुलाई :भाषा: वैज्ञानिकों ने थ्री डी तकनीक का इस्तेमाल करके चार हजार साल पुरानी एक क्षतिग्रस्त खोपड़ी के चेहरे का पुनर्निर्माण किया है। यह खोपड़ी ताम्रकाल के एक किसान की है।

ब्रिटेन में 1930 के दशक में पाया गया यह कंकाल लगभग 30 साल तक बक्सटन संग्रहालय के संग्रह में रखा था। यह पत्थर के एक बक्से में क्षतिग्रस्त हाल में मिला था।

ऐसा माना जाता है कि पत्थर के जिस बक्से में उसे दफनाया गया था, वह गिर गया और कंकाल की खोपड़ी के अगले हिस्से को नुकसान पहुंचा। किसान कैसा दिखता था, यह पता लगाने के लिए चेहरे के दूसरे हिस्से का पता लगाना जरूरी था। इसके लिए शीशे की मदद से उसका प्रतिबिंब बनाया गया।

ब्रिटेन की लिवरपूल जॉन मूर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने व्यक्ति के चेहरे का पुनर्निर्माण करने के लिए थ्री डी तकनीक का इस्तेमाल किया। इस तकनीक का इस्तेमाल इससे पहले मिट्टी के साथ किया गया था।

प्रदर्शन के लिए रखे गए सामान की देखभाल करने वाले जो पेरी ने कहा कि ताम्रकालीन अवशेषों पर चेहरा लगाना आसान था।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में