17 Jan 2018, 16:7 HRS IST
  • बोधगया में विश्व शांति प्रार्थना में भाग लेते दलाई लामा
    बोधगया में विश्व शांति प्रार्थना में भाग लेते दलाई लामा
    एम्स के 45वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    एम्स के 45वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    मुंबई के अरोली क्रीक में क्रीड़ा करती हंस
    मुंबई के अरोली क्रीक में क्रीड़ा करती हंस
    गणतंत्र दिवस परेड के रिहर्सल का नजारा
    गणतंत्र दिवस परेड के रिहर्सल का नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • शशिकला जेल रिश्वत मामला: दो जेल अधिकारियों का तबादला

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:38 HRS IST

बेंगलुरू, 17 जुलाई :भाषा: कर्नाटक सरकार ने अन्नाद्रमुक :अम्मा: नेता वी के शशिकला को जेल में ‘‘विशेष’’ सुविधाएं दिए जाने और यहां के केंद्रीय कारागार में दूसरे ‘‘गलत’’ कामों के आरोपों को लेकर सार्वजनिक बहस में शामिल जेल के दो शीर्ष अधिकारियों का आज तबादला कर दिया।

पुलिस महानिदेशक :कारागार: एच एन सत्यनारायण राव और उन पर रिश्वत के आरोप लगाने वाली उपमहानिरीक्षक :कारागार: डी रूपा का तत्काल प्रभाव से तबादला कर दिया गया।

राज्य सरकार ने एक अधिसूचना में आज कहा कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अतिरिक्त एन एस मेघारिख का तत्काल प्रभाव से तबादला कर उन्हें राव की जगह अतिरिक्त डीजीपी :कारागार: के पद पर तैनात किया गया है।

इसमें यह भी कहा गया कि रूपा को पुलिस उपमहानिरीक्षक और यातायात एवं सड़क सुरक्षा आयुक्त के पद पर तैनात किया गया है।

हालांकि अधिसूचना में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि राव का तबादला किस पद पर किया गया है और रूपा की जगह किसे तैनात किया गया है।

राव को 12 जुलाई को सौंपे गए एक रिपोर्ट में रूपा ने कहा था कि ऐसी ‘‘बातें’’ हो रही हैं कि शशिकला को विशेष सुविधाएं देने के बदले दो करोड़ रुपये दिए गए और उनके :राव: खिलाफ भी आरोप हैं।

रूपा ने यह भी कहा था कि जेल नियमों का उल्लंघन करते हुए शशिकला के लिए वहां एक विशेष रसोईघर भी काम कर रहा है।

राव ने आरोपों को खारिज करते हुए इसे ‘‘पूरी तरह गलत, बेबुनियाद और अविवेचित’’ बताया और कहा कि वह अपनी कनिष्ठ अधिकारी :रूपा: के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

दोनों अधिकारियों के बीच सार्वजनिक बहस शुरू होने के साथ मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने आरोपों को लेकर एक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी द्वारा उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए।

साथ ही मामले से शर्मसार हुई राज्य की कांग्रेस सरकार ने रूपा को कानूनी नोटिस भेजकर अपने इस आचरण को लेकर स्पष्टीकरण देने को कहा।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।