22 Apr 2019, 23:31 HRS IST
  • नामांकन दाखिल करने से पहले उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी, हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के साथ विजय चिह्न दिखाते हुये
    नामांकन दाखिल करने से पहले उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी, हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के साथ विजय चिह्न दिखाते हुये
    बैसाखी उत्सव में स्वर्ण मंदिर के सरोवर डुबकी लगाते श्रद्धालु
    बैसाखी उत्सव में स्वर्ण मंदिर के सरोवर डुबकी लगाते श्रद्धालु
    रंगोली बीहू उत्सव में बीहू नृत्य करते कलाकार
    रंगोली बीहू उत्सव में बीहू नृत्य करते कलाकार
    बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर श्रद्धांजलि देते राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री
    बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर श्रद्धांजलि देते राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • म्यामां से 1,23,000 रोहिंग्या शरणार्थियों ने पलायन किया :यूएनएचसीआर

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:5 HRS IST

बैंकाक, पांच सितंबर (एपी) म्यामां में हिंसा के चलते बांग्लादेश पलायन करने वाले रोहिंग्या शरणार्थियों की संख्या 1,23,000 है जो पहले सोची गई संख्या से कहीं अधिक है।

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी यूएनएचसीआर की प्रवक्ता विवियन तान ने कहा है कि पलायन करने वालों की संख्या 87,000 होने का कल अनुमान लगाया गया था लेकिन संशोधित संख्या 1,23,000 है। हालांकि इसका यह मतलब नहीं है कि 36,000 नये शरणार्थी पिछले 24 घंटों में प्रवेश किए हैं। फिर भी यह संख्या काफी चिंताजनक है।

हजारों लोग रोजाना जंगलों और धान के खेतों से होते हुए बांग्लादेश में सुरक्षित पहुंच रहे हैं। अन्य लोग दोनों देशों को के बीच स्थित नदियों को पार कर रहे हैं। हालांकि, इस कोशिश में कई लोग डूब भी गए हैं।

रोहिंग्या समुदाय का ताजा पलायन 25 अगस्त को शुरू हुआ जब रोहिंग्या उग्रवादियों ने म्यामां की पुलिस चौकियों पर हमला किया, जिस पर सुरक्षा बलों को इसके जवाब में अभियान चलाना पड़ा। गौरतलब है कि म्यामां में साल 2002 में हुई हिंसा के बाद एक लाख से अधिक रोहिंग्या बांग्लादेश के शिविरों में रहने को मजबूर हैं।

एपी सुभाष सुजाता विवेकानन्द बैंकाक वि53 0905 1809 बैंकाक 000720170905173757

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में