19 Oct 2017, 18:9 HRS IST
  • इलाहाबाद में दिपवली की धूम का नजारा
    इलाहाबाद में दिपवली की धूम का नजारा
    नागपुर में दिवाली मनातीं महिलायें
    नागपुर में दिवाली मनातीं महिलायें
    पर्रगवाल: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दिपावली मनाते बीएसएफ के जवान
    पर्रगवाल: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दिपावली मनाते बीएसएफ के जवान
    हानओवर : उगते सूर्य के साथ रोमन ईश्वर की अराधना करते
    हानओवर : उगते सूर्य के साथ रोमन ईश्वर की अराधना करते
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • भारत ने गैर-परमाणु हथियार देश के तौर पर एनटीपी में शामिल होने की संभावना से इनकार किया

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:22 HRS IST

संयुक्त राष्ट्र, 13 अक्तूबर (भाषा) भारत ने परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) के साथ गैर परमाणु हथियार देश के तौर पर जुड़ने की संभावना से इनकार कर दिया लेकिन कहा है कि वह परमाणु विस्फोटक परीक्षण पर एकतरफा स्वैच्छिक रोक के लिए प्रतिबद्ध है।

कॉन्फ्रेंस ऑन डिस्आर्मामेंट में भारत के स्थायी प्रतिनिधि अमनदीप सिंह गिल ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कल कहा, ‘‘ भारत का एनपीटी के साथ गैर परमाणु हथियार देश (एनएनडब्ल्यूएस) के तौर पर जुड़ने का सवाल ही नहीं उठता। ’’ परमाणु हथियार विषय पर चर्चा में उन्होंने कहा कि एनपीटी पर भारत का रुख सुस्पष्ट है, सभी को पता है और इस पर कुछ भी दोहराने की कोई जरूरत नहीं है।

गिल ने कहा कि इसी के साथ भारत वैश्विक परमाणु अप्रसार लक्ष्यों को मजबूत करने और बनाए रखने का समर्थन करता है, खासकर उन देशों द्वारा इसके पूर्ण और प्रभावी क्रियान्वयन का, जिन देशों का एनपीटी समेत संबंधित समझौतों और संधियों के तहत इसका दायित्व बनता है।

उन्होंने कहा कि भारत एनपीटी का हिस्सा नहीं होने के बावजूद इसके सिद्धांतों और लक्ष्यों का पालन करता है। इसमें परमाणु निरस्त्रीकरण आकांक्षाएं भी शामिल हैं।

गिल ने कहा कि परमाणु अप्रसार को मजबूत करने में अपना योगदान देने के लिए भारत प्रतिबद्ध है।

एनपीटी एक अंतरराष्ट्रीय संधि है जिसका उद्देश्य परमाणु हथियार और ऐसे हथियार बनाने की तकनीक के प्रसार को रोकना है ताकि परमाणु ऊर्जा का शांतिपूर्ण इस्तेमाल किया जा सके और निरस्त्रीकरण के लक्ष्य को आगे बढ़ाया जा सके।

एनपीटी के तहत परमाणु हथियार से लैस देशों की व्याख्या इस तरह की गई है: जिन्होंने एक जनवरी 1967 से पहले परमाणु हथियारों का उत्पादन किया या परमाणु हथियार अथवा अन्य परमाणु हथियार उपकरणों में विस्फोट किया।

गिल ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ हमने अपने एजेंडा को समसामयिक बनाया है और उम्मीद करते हैं कि हमारे मित्र अपने एजेंडा का नवीकरण करेंगे और अप्रसार तथा निरस्त्रीकरण के वास्तविक क्रियान्वयन में जो कमियां हैं, उन पर ध्यान केंद्रित करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि एक जिम्मेदार परमाणु शक्ति होने के नाते , परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल ना करना और गैर परमाणु हथियार संपन्न देशों के खिलाफ परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं करना भारत की नीति है।

गिल ने कहा, ‘‘ हम परमाणु विस्फोटक परीक्षण पर एकतरफा स्वैच्छिक रोक के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’ जारी

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।