20 Apr 2018, 19:48 HRS IST
  • गोल्ड कोस्ट : जेवलिन थ्रो स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपडा
    गोल्ड कोस्ट : जेवलिन थ्रो स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपडा
    अमृतसर : स्वर्ण मंदिर में वैशाखी महोत्सव मनाते सिख श्रधालु
    अमृतसर : स्वर्ण मंदिर में वैशाखी महोत्सव मनाते सिख श्रधालु
    ब्रिसवेन : निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले शूटर संजीव राजपूत
    ब्रिसवेन : निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले शूटर संजीव राजपूत
    कोहली की टीम आरसीबी की जीत के बाद खुशी जाहिर करती अनुष्का शर्मा
    कोहली की टीम आरसीबी की जीत के बाद खुशी जाहिर करती अनुष्का शर्मा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add

मोदी ने नेतान्याहू का हवाई अड्डे पर किया स्वागत, यात्रा को ऐतिहासिक बताया -फोटो पीटीआई
  • Photograph Photograph  (1)
  • मोदी ने नेतान्याहू का हवाई अड्डे पर किया स्वागत, यात्रा को ऐतिहासिक बताया

  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:26 HRS IST

नयी दिल्ली, 14 जनवरी (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोटोकॉल को परे रखते हुए आज इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू की अगवानी की। नेतान्याहू छह दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचे।

मोदी ने नेतान्याहू की हवाई अड्डे पर अगवानी की। उन्होंने नेतान्याहू के यहां पहुंचने पर उन्हें गले लगाकर उनका स्वागत किया। नेतान्याहू के साथ उनकी पत्नी सारा भी आयी हैं।

मोदी ने अंग्रेजी और हिब्रू भाषा में ट्वीट किया, ‘‘मेरे मित्र प्रधानमंत्री नेतान्याहू, भारत में आपका स्वागत है। भारत की आपकी यह यात्रा ऐतिहासिक और विशेष है। इससे हमारे देशों के बीच मित्रता और मजबूत होगी।’’ इस यात्रा के दौरान दोनों नेता विभिन्न मुद्दों पर व्यापक बातचीत करेंगे।

दोनों नेता दोपहर में यहां तीनमूर्ति मेमोरियल में आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में शामिल होंगे। कार्यक्रम का आयोजन तीन मूर्ति चौक का नाम औपचारिक रूप से तीन मूर्ति हयफा चौक करने के लिए किया जा रहा है। हयफा इस्राइल का शहर है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दोनों नेता मेमोरियल पर पुष्पचक्र अर्पित करेंगे और आगंतुक पुस्तिका में हस्ताक्षर भी करेंगे।

तीन मूर्ति पर कांस्य की तीन मूर्तियां हैदराबाद, जोधपुर और मैसूर के सैनिकों का प्रतिनिधित्व करती हैं जो 15 इमीरियल सर्विस कैवेलरी ब्रिगेड का हिस्सा थे। ब्रिगेड ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान 23 सितम्बर, 1918 को हैफा पर हमला किया था और उसमें जीत हासिल की थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।