21 Jul 2018, 15:2 HRS IST
  • गुवाहाटी : गर्मी से निजात पाने के लिए नदी में नहाते बंदर जोडी
    गुवाहाटी : गर्मी से निजात पाने के लिए नदी में नहाते बंदर जोडी
    अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष बैच पत्रकारों को संबोधित करते
    अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष बैच पत्रकारों को संबोधित करते
    खोरदा : किसान मानसून के मौके पर धान की रोपाई करते
    खोरदा : किसान मानसून के मौके पर धान की रोपाई करते
    मानसून सत्र में ​भाग लेते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
    मानसून सत्र में ​भाग लेते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • स्वरोजगार को सम्मानजनक पेश के रुप में पेश किया जाए : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 16:58 HRS IST

मुम्बई, 14 जनवरी (भाषा) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज कहा कि सरकार और एनजीओ को ‘स्वरोजगार’ को ‘सम्मानजनक पेशे’ के रुप में पेश करना चाहिए तथा उन्होंने युवा भारतीयों से नौकरी मांगने के बजाय नौकरियां सृजित करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि लोगों को मजबूरीवश नहीं बल्कि अपनी पसंद से स्वरोजगार अपनाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘मुद्रा योजना, स्टार्टअप इंडिया और स्टैंड अप इंडिया जैसे कार्यक्रम युवाओं को नौकरी मांगने के बजाय नौकरियां देने वाला बनाकर उनके सशक्तिकरण में मदद पहुंचा रहे हैं।’’

राष्ट्रपति ने कहा कि सरकारी विभागों, एनजीओ और अर्धसरकारी संगठनों को एक ऐसी संस्कृति के लिए दवाब बनाना चाहिए जहां स्वरोजगार को सम्मानजनक पेश के रुप में देखा जाए।

उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री जनधन योजना का महत्वपूर्ण परिणाम यह है कि 30 करोड़ नये बैंक खातों में 50 फीसद से अधिक महिलाओं ने खुलवाये हैं।

उन्होंने कहा कि यह न केवल स्वागतयोग्य कदम है बल्कि कामकाजी महिलाओं को सशक्त बनाने का प्रयास है।

कोविंद ठाणे जिले में परमार्थ संगठन रामभाऊ म्हालगी प्रबोधिनी द्वारा आयोजित ‘इकॉनोमिक डेमोक्रेसी कॉक्लेव ’ के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।