21 Nov 2018, 01:11 HRS IST
  • भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • इंडियन मुजाहिदीन का संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:32 HRS IST

नयी दिल्ली, 14 फरवरी (भाषा) उत्तर प्रदेश, गुजरात और दिल्ली में हुए सलिसिलेवार विस्फोटों से ताल्लुक रखने वाले इंडियन मुजाहिदीन के एक कथित आतंकवादी को भारत - नेपाल सीमा से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह बटला हाउस मुठभेड़ के दौरान बच निकला था।

डीसीपी (स्पेशल सेल) पीएस कुशवाह ने बताया कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की एक टीम ने आरिज खान (32) को भारत - नेपाल सीमा पर बनवासा से कल शाम गिरफ्तार किया।

कुशवाह ने बताया कि खान देश में आईएम और सिमी के बड़े नेताओं के गिरफ्तार होने के बाद इन संगठनों में नयी जान फूंकने की कोशिश में शामिल था। वह एक दशक से फरार था और उसकी गिरफ्तारी पर 15 लाख रूपये का ईनाम था। वह आईएम के आजमगढ़ (संजरपुर) माड्यूल का एक सदस्य था और नेपाल में रहता था, जहां वह एक स्कूल में पढ़ाता था। उसके सहयोगी तौकीर को इससे पहले दिल्ली पुलिस ने इस साल जनवरी में गिरफ्तार किया था।

गौरतलब है कि 19 सितंबर 2008 को दिल्ली के जामिया नगर स्थित बटला हाउस में हुई मुठभेड़ में चार अन्य लोगों के साथ खान भी मौजूद था। मुठभेड़ के दौरान वह वहां से भाग निकला था। हालांकि इस घटना में इंडियन मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मारे गए थे और कई को गिरफ्तार किया गया था।

इस बीच, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि आईएम के संदिग्ध सदस्य की गिरफ्तारी के साथ कांग्रेस का राजनीतिक पाखंड बेनकाब हो गया है।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि बटला हाउस प्रकरण राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा विषय था, ना कि धर्म से। उन्होंने कांग्रेस पर राष्ट्रीय सुरक्षा के संवेदनशील मुद्दे को राजनीतिक रंग देने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा के संवेदनशील मुद्दे को राजनीतिक रंग दिया। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। कांग्रेस का राजनीतिक पाखंड बेनकाब हो गया है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।