22 Sep 2018, 18:5 HRS IST
  • जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
    2019 में जीत के बाद 50 साल तक पार्टी को कोई हराने वाला नहीं होगा :शाह
    2019 में जीत के बाद 50 साल तक पार्टी को कोई हराने वाला नहीं होगा :शाह
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन का उद्घघाटन

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 20:18 HRS IST

नयी दिल्ली, 14 मार्च( भाषा) दिल्ली मेट्रो की बहुप्रतीक्षित पिंक लाइन-- मजलिस पार्क से दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैम्पस खंड- का आज यहां उद्घाटन किया गया। इस तरह मेट्रो नेटवर्क का विस्तार252 किमी तक हो गया।

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री( स्वतंत्र प्रभार) हरदीप पुरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक कार्यक्रम के दौरान मेट्रो भवन से इसका उद्घाटन किया। इस मौके पर केजरीवाल ने मेट्रो के चौथे चरण को दिल्ली सरकार से जल्द मंजूरी दिये जाने का भरोसा दिलाते हुये कहा कि इस चरण के कुछ मार्गों पर रूट की उपयोगिता तथा वित्तीय बाधायें हैं जिन्हें दूर कर लिया जायेगा।

पुरी ने हाल ही में केजरीवाल सरकार द्वारा मेट्रो के चौथे चरण को मंजूरी नहीं देने का मुद्दा उठाते हुये कहा था कि दिल्ली सरकार की मंजूरी नहीं मिलने के कारण केन्द्र सरकार अब इस परियोजना का काम शुरू करने में और अधिक देरी नहीं करेगी। केजरीवाल ने मेट्रो को दिल्ली की‘ जीवनरेखा’ बताते हुये कहा कि उनकी सरकार जल्द ही चौथे चरण के काम को मंजूरी दे देगी।

पुरी ने कहा कि चौथे चरण की परियोजना में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की भागीदारी( पीपीपी मॉडल) को केन्द्र सरकार द्वारा वरीयता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली मेट्रो प्रबंधन द्वारा केन्द्र और दिल्ली सरकार को चौथे चरण में मेट्रो के संचालन में निजी क्षेत्र को शामिल करने का प्रस्ताव भेज दिया है। पुरी ने कहा‘‘ पीपीपी मॉडल ही परियोजनाओं को आगे बढ़ाने के लिये राष्ट्रीय तौर पर प्रचलित मॉडल है, इसके अलावा दूसरा कोई मॉडल नहीं है।’’

इस मार्ग पर एक छोर से दूसरे छोर की दूरी34 मिनट में तय होगी और इसके लिए40 रूपया चुकाना होगा। नये मार्ग ने दिल्ली विश्वविद्यालय के नार्थ और साउथ कैम्पस को पहली बार आपस में जोड़ा है। इस लाइन पर यात्रियों को सर्वाधिक ऊंचाई पर यात्रा करने का अनुभव होगा। लगभग22 किमी लंबी पिंक लाइन पर धौला कुंआ के पास23.6 मीटर की ऊंचाई पर मेट्रो रेल चलेगी। इससे यात्री आसपास के इलाके का विहंगम नजारा ले सकेंगे।

दिल्ली मेट्रो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस रूट के साथ ही मेट्रो का सफर एक नई ऊंचाई तक पहुंचा है, जो न सिर्फ यात्रियों के लिये बल्कि मेट्रो टीम के लिये भी रोमांचित कर देने वाला अनुभव है। इस मार्ग पर12 स्टेशन हैं। सभी स्टेशनों पर प्लेटफार्म स्क्रीन डोर और संकेतक हैं।

इस मार्ग पर पड़ने वाले स्टेशनों के नाम मजलिस पार्क, आजादपुर, शालीमार बाग, नेताजी सुभाष प्लेस, शकूरपुर, पंजाबी बाग पश्चिम, ईएसआई अस्पताल, राजौरी गार्डन, मायापुरी, नारायणा विहार, दिल्ली कैंट और दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैम्पस है। इन12 स्टेशनों में चार स्टेशन भूमिगत हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।