21 Oct 2020, 11:4 HRS IST
  • न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • विमानों की तरह रेलवे में भी डायनेमिक किराये की योजना से नाखुश हैं पीयूष गोयल

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:24 HRS IST



अनन्या सेनगुप्ता

नयी दिल्ली, 18 मार्च( भाषा) फ्लेक्सी किराया योजना की समीक्षा के लिए बनी समिति को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि वह नये सिरे से मामले पर विचार करे और ताजा रिपोर्ट तैयार करे।

गौरतलब है कि समिति की ओर से विमानों की भांति रेलवे में भी डायनेमिक किराया लागू करने की सिफारिश किये जाने के बाद मंत्री ने उक्त निर्देश दिये हैं।

अधिकारियों ने बताया कि इस समिति का गठन पिछले वर्ष दिसंबर में हुआ था। इसे रेलवे के राजस्व और यात्रियों पर मौजूदा फ्लेक्सी किराया योजना के प्रभावों का अध्ययन कर यह बताना था कि किराया बढ़ने के बाद लोग रेलवे को परिवहन के साधन के रूप में प्राथमिकता दे रहे हैं या नहीं।

समिति ने15 जनवरी को दी गयी अपनी रिपोर्ट में विमानों की भांति सभी मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए डायनेमिक किराया लागू करने की बात कही थी।

समिति ने विभिन्न सुविधाओं पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की बात कही थी.... जैसे गंतव्य पर पहुंचने में कम समय लेने वाली ट्रेन, लोअर बर्थ( निचली सीट) के लिए अतिरिक्त मूल्य या फिर त्योहारों के दौरान यात्रा पर भी अतिरिक्त किराया लेना शामिल था।

इसके तहत प्रीमियम ट्रेनों में बुकिंग और ट्रेन की रवानगी के करीब आने पर किराया बढ़ना शामिल था।

ऐसा माना जा रहा है कि13 मार्च को इस संबंध में20 मिनट तक चली बैठक में केन्द्रीय मंत्री ने प्रस्ताव पर अप्रसन्नता जताते हुए पुन: विचार करने को कहा।

समिति में रेलवे बोर्ड के कुछ अधिकारी, नीति आयोग के सलाहकार रविन्द्र गोयल, एयर इंडिया में राजस्व प्रबंधन विभाग की कार्यकारी निदेशक मीनाक्षी मलिक, प्रोफेसर एस. श्रीराम और अन्य शामिल हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।