02 Mar 2021, 20:3 HRS IST
  • प्रियंका गांधी ने दो दिवसीय असम दौरे की शुरुआत की
    प्रियंका गांधी ने दो दिवसीय असम दौरे की शुरुआत की
    ओडिशा के मुख्यमंत्री पटनायक ने ‘कोवैक्सीन’ टीके की पहली खुराक ली
    ओडिशा के मुख्यमंत्री पटनायक ने ‘कोवैक्सीन’ टीके की पहली खुराक ली
    तोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति का अध्यक्ष पद संभालेंगी हाशिमोतो
    तोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति का अध्यक्ष पद संभालेंगी हाशिमोतो
    इंग्लैंड पर जीत के साथ भारत डब्ल्यूटीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचा
    इंग्लैंड पर जीत के साथ भारत डब्ल्यूटीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add

  • Photograph Photograph  (1)
  • महबूबा ने कठुआ मामले में भाजपा मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार किये

  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:10 HRS IST

श्रीनगर , 15 अप्रैल ( भाषा ) जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आज भाजपा के उन दो विवादित मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिये जो कठुआ में आठ साल की मुस्लिम लड़की के बलात्कार और हत्या के संबंध में गिरफ्तार आरोपियों के समर्थन में आयोजित एक रैली में शामिल हुए थे।
अधिकारियों ने कहा कि लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा के इस्तीफे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा से आज सुबह प्राप्त हुए जिन्हें तुरंत स्वीकार कर लिया गया और प्रक्रिया संबंधी औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए उन्हें राज्यपाल एन एन वोहरा के पास भेजा गया।
इन इस्तीफों के साथ राज्य सरकार में मंत्रियों की संख्या घटकर 22 हो गई है जिसमें भाजपा के नौ मंत्री हैं।
उन्होंने कहा कि मंत्रिपरिषद में तीन पद रिक्त हैं क्योंकि पीडीपी ने पिछले महीने वित्त मंत्री हसीब द्राबू को पद से हटा दिया था।
जम्मू में कल पार्टी के विधायकों के साथ सलाह मशविरा करने वाले भाजपा महासचिव राम माधव ने घोषणा की थी कि आगे की कार्रवाई के लिए इस्तीफे आगे बढाए जाएंगे।
गंगा और सिंह ने एक मार्च को एक रैली में भाग लिया था जिसका आयोजन जम्मू कश्मीर पुलिस की अपराध शाखा द्वारा एक बच्ची के बलात्कार और हत्या के संबंध में एक मंदिर का रखरखाव करने वाले के भतीजे को गिरफ्तार करने के बाद किया गया था।

जांच के दौरान , पुलिस ने रखरखाव करने वाले को गिरफ्तार करके आरोप लगाया था कि वह इस लड़की के बलात्कार और हत्या का मुख्य साजिशकर्ता था। पुलिस ने दावा किया था कि अपराध की मंशा घुमंतू समुदाय को आतंकित करना और उन्हें गांव से बाहर करना था।
लड़की का 10 जनवरी को अपहरण किया गया था और उसका शव 17 जनवरी को मिला। जांच के दौरान अपराध शाखा ने आरोप लगाया कि उसे नशीली दवा दी गई और उसकी हत्या से पहले उसके साथ बार बार बलात्कार किया गया।
दोनों मंत्रियों का कल कहना था कि उन्हें पार्टी ने कठुआ भेजा था ताकि जमीनी स्थिति समझी जा सके। दोनों मंत्री बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में आयोजित इस रैली में मौजूद थे जहां तिरंगे भी फहराए गए।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।