18 Oct 2018, 10:10 HRS IST
  • कोलकाता: दुर्गा पूजा पंडाल का मनमोहक दृश्य
    कोलकाता: दुर्गा पूजा पंडाल का मनमोहक दृश्य
    मुंबई: सुपरहिट हिंदी फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ के 20 साल पूरे होने के मौके पर फिल्म की पूरी टीम
    मुंबई: सुपरहिट हिंदी फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ के 20 साल पूरे होने के मौके पर फिल्म की पूरी टीम
    गुजरात के सूरत में नवरात्रि के दौरान गरबा नृत्य करते लोग
    गुजरात के सूरत में नवरात्रि के दौरान गरबा नृत्य करते लोग
    पटना:दुर्गा पूजा पंडाल के बाहर जमा हुये श्रद्धालुगण
    पटना:दुर्गा पूजा पंडाल के बाहर जमा हुये श्रद्धालुगण
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • सूरत की पीडिता ओडिशा से हो सकती है:मंत्री

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 19:56 HRS IST



सूरत ( गुजरात ), 16 अप्रैल ( भाषा ) गुजरात के एक मंत्री ने आज कहा कि कथित बलात्कार की पीड़िता मूल रूप से ओडिशा से हो सकती है। एक नाबालिग लड़की का शव 10 दिन पहले मिला था। लड़की के साथ बलात्कार और उत्पीड़न किये जाने की आशंका है।

पुलिस ने बताया कि लड़की की पहचान का पता लगाने के लिए प्रयास किये जा रहे है। नौ से 11 वर्ष के बीच की बच्ची का शव गत छह अप्रैल को यहां भेस्तान क्षेत्र में एक क्रिकेट मैदान के निकट मिला था।

शव पर चोट के 86 निशान थे। यहां शहर सिविल अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया था कि चोटों की प्रकृति से ऐसी आशंका है कि बच्ची को बंधक बनाकर प्रताड़ित किया गया और उसके साथ बलात्कार किया गया।

पुलिस ने आज बताया कि कई राज्यों के लापता बच्चों के आंकड़ों की जांच की गई लेकिन अब तक लड़की की पहचान के बारे में कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।

गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने पत्रकारों को बताया कि पीड़िता किसी अन्य राज्य से हो सकती है। संभवत : ओडिशा से हो सकती है।

सूरत के एसीपी ( अपराध ) आर आर सरवैया ने बताया कि यह संभव है कि लड़की गुजरात के अलावा किसी अन्य राज्य से हो।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने ओडिशा और पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों के लापता बच्चों के आकड़ों की जांच की। उन्होंने बताया कि हालांकि अब तक पीड़िता की पहचान के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है।

सरवैया ने बताया कि अहमदाबाद पुलिस की अपराध शाखा की दो टीम जांचकर्ताओं की मदद करने के लिए आज सूरत पहुंचीं।

मंत्री ने कहा कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा।

सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने कल था कि लड़की के शव से एक डीएनए नमूना लिया गया था जिसे पहचान के लिए फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया था। इसकी रिपोर्ट ‘‘ जल्द से जल्द ’’ मिल जायेगी।

अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 ( हत्या ), 323 ( स्वेच्छा से चोट पहुंचाना ) , 376 ( बलात्कार ) और पोस्को अधिनियम के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।



पुलिस ने लड़की की पहचान में मदद करने और दोषियों के बारे में सूचना देने वाले को 20 हजार रुपये का इनाम दिये जाने की भी घोषणा की है।

इस बीच अधिकारियों ने बताया कि सूरत पुलिस की अपराध शाखा इकाई ने सोशल मीडिया पर कथित रूप से एक संदेश फैलाने के लिए तीन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 505(1)(B) के तहत एक मामला दर्ज किया है।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।