10 Dec 2018, 07:4 HRS IST
  • निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • वरिष्ठ पत्रकार एस. निहाल सिंह का निधन

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:10 HRS IST



नयी दिल्ली , 16 अप्रैल ( भाषा ) वरिष्ठ पत्रकार एस . निहाल सिंह का आज शाम निधन हो गया। वह कुछ समय से बीमार थे।

उनके परिवार के सदस्यों ने बताया कि उन्होंने नेशनल हर्ट इंस्टीट्यूट में अंतिम सांस ली। उन्हें गुर्दे से संबंधित बीमारी थीं। उनकी आयु इसी माह 89 वर्ष पूरी होने वाली थी।

उनकी रिश्तेदार इंदु निहाल सिंह ने कहा , ‘‘ वह कुछ समय से बीमार थे। पिछले एक हफ्ते से उनकी स्थित गंभीर हो चली थी। ’’

उन्होंने बताया कि कल उनका यहां अंतिम संस्कार किया जाएगा।

एस निहाल सिंह के परिवार में चार बहनें हैं। उन्होंने ‘ द स्टेट्समैन ’ में मुख्य सम्पादक , ‘ द इंडियन एक्सप्रेस ’ के मुख्य सम्पादक और ‘ खलीज टाइम्स ’ के सम्पादक समेत कई जाने माने अखबारों में अपनी सेवाएं दीं। वह द इंडियन पोस्ट के संस्थापक संपादक थे।

उन्हें आपातकाल का विरोध करने पर न्यूयार्क में प्रतिष्ठित इंटरनेशनल एडीटर ऑफर ईयर पुरस्कार मिला था।

उन्होंने मॉस्को , लंदन , अमेरिका और इंडोनेशिया में विदेश संवाददाता के तौर भी काम किया था।

एस निहाल सिंह ने ‘ द रॉकी रोड टू इंडियन डेमोक्रेसी : नेहरु टू नरसिम्हा राव ’, ‘ द योगी एंड द बीयर : स्टोरी ऑफ इंडो - सोवियत रिलेशंस ’ समेत कई किताबें भी लिखीं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।