19 Apr 2018, 21:19 HRS IST
  • गोल्ड कोस्ट : जेवलिन थ्रो स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपडा
    गोल्ड कोस्ट : जेवलिन थ्रो स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपडा
    अमृतसर : स्वर्ण मंदिर में वैशाखी महोत्सव मनाते सिख श्रधालु
    अमृतसर : स्वर्ण मंदिर में वैशाखी महोत्सव मनाते सिख श्रधालु
    ब्रिसवेन : निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले शूटर संजीव राजपूत
    ब्रिसवेन : निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले शूटर संजीव राजपूत
    कोहली की टीम आरसीबी की जीत के बाद खुशी जाहिर करती अनुष्का शर्मा
    कोहली की टीम आरसीबी की जीत के बाद खुशी जाहिर करती अनुष्का शर्मा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जी7 देशों ने नर्व एजेंट हमले पर रूस से जवाब मांगा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 9:48 HRS IST



ओटावा , 17 अप्रैल ( एएफपी ) सात अग्रणी औद्योगिक देशों के समूह ( जी 7) के विदेश मंत्रियों ने आज रूस से कहा कि वह ब्रिटेन में पूर्व जासूस पर नर्व एजेंट हमले को लेकर अपने आप को बेदाग साबित करें। उन्होंने इस हमले को ‘‘ सभी के लिए खतरा ’’ बताया।



उन्होंने एक संयुक्त बयान में कहा , ‘‘ हम रूस से अपील करते हैं कि वह सालिसबरी में घटना से संबंधित सभी सवालों के तुरंत जवाब दें। ’’



जी 7 राष्ट्रों ने रूस से अनुरोध किया कि वह अंतरराष्ट्रीय कर्त्तव्यों के अनुसार ओपीसीडब्ल्यू को अपने अघोषित नोविचोक कार्यक्रम का खुलासा करें। नोविचोक जानलेवा रासायनिक पदार्थों का मिश्रण है जिसे 1970 और 1980 के दशक में सोवियत सरकार ने विकसित किया था।



पश्चिमी देशों ने ब्रिटेन के समर्थन में रूस के खिलाफ समन्वित कार्रवाई करते हुए उसके 150 से अधिक राजनयिकों को निष्कासित कर दिया और रूस ने भी ऐसी ही जवाबी कार्रवाई की जिसके बाद जी 7 देशों का बयान आया है।



ब्रिटेन , कनाडा , फ्रांस , जर्मनी , इटली , जापान और अमेरिका के विदेश मंत्रियों के साथ - साथ यूरोपीय संघ ने कहा कि वे सालिसबरी में हमले की सख्त लहजे में निंदा करते हैं।



उन्होंने कहा कि वे ब्रिटेन के इस अनुमान से सहमत है कि इस हमले के पीछे रूस का हाथ होने की प्रबल आशंका है।



एएफपी गोला शोभना शोभना 1704 0949 ओटावा

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।