18 Jan 2019, 23:30 HRS IST
  • गणतंत्र दिवस परेड का पूर्वाभ्यास करते जवान
    गणतंत्र दिवस परेड का पूर्वाभ्यास करते जवान
    गणतंत्र दिवस परेड के लिए राजपथ पर पूर्वाभ्यास करते जवान
    गणतंत्र दिवस परेड के लिए राजपथ पर पूर्वाभ्यास करते जवान
    कुंभ के दौरान संगम पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    कुंभ के दौरान संगम पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    कुंभ मेले में कैमरे से फोटो लेता नागा साधु
    कुंभ मेले में कैमरे से फोटो लेता नागा साधु
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • एशियाड शिविर से बाहर फोगाट बहनें, बबिता ने कहा कि वह चोटिल

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:56 HRS IST



नयी दिल्ली, 17 मई ( भाषा ) भारतीय कुश्ती महासंघ ने आज कहा कि ‘गंभीर अनुशासनहीनता’ के कारण राष्ट्रीय शिविर से बाहर की गई फोगाट बहनों को वापसी के लिये अपनी गैर मौजूदगी का कारण स्पष्ट करना होगा जबकि बबिता फोगाट ने चोटिल होने का दावा किया ।



राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता गीता और बबिता फोगाट अपने जीवन पर आमिर खान की ‘दंगल’ फिल्म के बाद लोकप्रिय हो गई थी । उनकी छोटी बहनों रितु और संगीता को भी लखनऊ में चल रहे शिविर से अनुशासनहीनता के कारण बाहर कर दिया गया ।



डब्ल्यूएफआई ने शिविर से बिना बताये बाहर रहने का कारण दिया है ।

महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा ,‘‘ राष्ट्रीय शिविर के लिये चुने गए पहलवानों को तीन दिन के भीतर रिपोर्ट करना होता है । कोई समस्या होने पर उन्हें जाकर कोचों को बताना होता है ताकि समाधान निकल सके ।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ लेकिन गीता , बबिता और अन्य ( कुल 13) ने ऐसा नहीं किया । उनसे संपर्क ही नहीं हो सका । यह गंभीर अनुशासनहीनता है और डब्ल्यूएफआई का मानना है कि कार्रवाई करना जरूरी है । हमने उन्हें घर बैठने और आराम करने के लिये कह दिया है ।’’



इस कार्रवाई के मायने हैं कि वे इस महीने के आखिर में होने वाले एशियाई खेल चयन ट्रायल से बाहर रह सकती है । एशियाई खेल अगस्त सितंबर में इंडोनेशिया में होने है ।



सिंह ने हालांकि कहा कि अपनी इस हरकत का स्पष्टीकरण देने पर इन पहलवानों को मौका दिया जा सकता है ।



उन्होंने कहा ,‘‘ पहले उन्हें आकर हमें कारण बताने दीजिये । अभी तो वे राष्ट्रीय शिविर से बाहर हैं ।’’



पुरूष और महिलाओं का राष्ट्रीय शिविर 10 से 25 मई तक सोनीपत और लखनऊ में चल रहा है ।



रियो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक के पति सत्यव्रत कडियान भी शिविर से बाहर है ।

बबिता ने कहा कि उसे किसी तरह का नोटिस नहीं मिला है और वह चोट के कारण बाहर है ।

उसने कहा ,‘‘ मुझे महासंघ से कोई नोटिस नहीं मिला । मैं अभी तक शिविर में नहीं गई क्योंकि मेरे दोनों घुटनों में चोट है । मैने महासंघ को सूचित नहीं किया लेकिन आज ही करूंगी ।’’



अपनी बहनों के बारे में उसने कहा कि रितु और संगीता रूस में अभ्यास शिविर में भाग लेने के लिये वीजा का इंतजार कर रहे हैं हालांकि महासंघ ने इस दावे को खारिज किया ।



उसने कहा ,‘‘ गीता बेंगलूरू में है और मुझे लगा कि वह शिविर में पहुंच गईहै ।मैं भी जेएसडब्ल्यू सेंटर में रिहैबिलिटेशन के लिये बेंगलूरू जा रही हूं ।’’



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।