23 Sep 2020, 15:45 HRS IST
  • संक्रमण से बचाव के दिशा-निर्देशों का पालन करिए: मोदी
    संक्रमण से बचाव के दिशा-निर्देशों का पालन करिए: मोदी
    राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा किया स्वीकार
    राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा किया स्वीकार
    रास में की गई कोरोना योद्धाओं को वीरता पुरस्कार देने की मांग
    रास में की गई कोरोना योद्धाओं को वीरता पुरस्कार देने की मांग
    आईपीएल के दौरान सट्टेबाजी पर नजर रखेगा स्पोर्टराडार
    आईपीएल के दौरान सट्टेबाजी पर नजर रखेगा स्पोर्टराडार
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • नाबालिग आदिवासी लड़की के साथ गैंगरेप

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 20:38 HRS IST

सागर (मध्यप्रदेश), चार जुलाई (भाषा) सागर के पास तेजपुर गांव में 14 वर्षीय एक आदिवासी लड़की के साथ दो नाबालिग लड़कों सहित चार लोगों द्वारा कथित रूप से सामूहिक बलात्कार करने का मामला सामने आया है। इस घटना में एक महिला ने इन चारों आरोपियों की मदद की।

गौरझामर पुलिस थाने के सहायक उपनिरीक्षक के एल अहिरवार ने आज बताया कि इन आरोपियों ने इस नाबालिग लड़की के साथ कल सुबह से रात तक सामूहिक बलात्कार किया और जब वह अचेत हो गई तो देर रात एक सरकारी स्कूल के पास फेंक दिया।

उन्होंने कहा कि पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी स्थिति स्थिर बनी हुई है। पीड़िता ने कुछ समय पहले ही स्कूल जाना छोड़ दिया था।

अहिरवार ने बताया कि इस मामले में दो नाबालिग सहित गोपाल अहिरवार, परमेन्द्र अहिरवार एवं इस घिनौने कृत्य में आरोपियों की मदद करने वाली महिला ममता अहिरवार के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा, इनके खिलाफ पॉक्सो एक्ट तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।

घटना की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि कल सुबह जब पीड़िता अपने घर में अकेली थी, उस वक्त ममता उसके घर गई और उसे अपने पास के घर में घरेलू काम करने के लिए ले गई और एक कमरे में बंद कर दिया, जहां चार आरोपियों ने उसके साथ बारी-बारी से बलात्कार किया।

अहिरवार ने बताया कि बाद में जब पीड़िता अचेत हो गई, तो उन्होंने उसे अंधेरे में स्कूल के पास फेंक दिया।

उन्होंने कहा कि बाद में उसे उसके माता-पिता ने स्कूल के पास के अचेत अवस्था में पाया और टेमरी इलाके स्थित एक प्राइमरी हेल्थ सेंटर में ले गये, जहां से उसे आज सुबह जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीड़िता के माता-पिता मजदूर हैं।

सागर जिले के पुलिस अधीक्षक एस शुक्ला ने बताया कि पीड़िता के बयान के बाद सभी आरोपियों को आज हिरासत में लिया गया है।

शुक्ला ने कहा कि पीड़िता की मेडिकल जांच हो गई है और रिपोर्ट का इंतजार है।

उन्होंने बताया कि आरोपियों की भी मेडिकल जांच की जायेगी और उसके नतीजों के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया जायेगा। वर्तमान में वे हिरासत में हैं।

शुक्ला ने बताया कि मामले की विस्तृत जांच जारी है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।