23 Jan 2019, 04:24 HRS IST
  • भारत के ब्रांड एंबेसडर हैं प्रवासी भारतीय - मोदी
    भारत के ब्रांड एंबेसडर हैं प्रवासी भारतीय - मोदी
    रणजी ट्राफी के एक मैच में बाॅलिंग करते उमेश यादव
    रणजी ट्राफी के एक मैच में बाॅलिंग करते उमेश यादव
    प्रयाग कुंभ में पूजा अर्चना करता साधु
    प्रयाग कुंभ में पूजा अर्चना करता साधु
    धुंध के आगोश में लिपटी राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली
    धुंध के आगोश में लिपटी राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • केरल जाने वाली ट्रेन से 108 बच्चे छुड़ाये गए

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 23:22 HRS IST



धनबाद, 12 जुलाई (भाषा) मुम्बई जाने वाली एक ट्रेन से 26 लड़कियों को मुक्त कराने की घटना के अभी दस दिन भी नहीं हुए कि आज बोकारो रेलवे स्टेशन से 87 लड़के और रांची स्टेशन से 21 बच्चों को संदिग्ध तस्करों के चंगुल से आजाद कराया गया।

अधिकारियों के अनुसार यह किसी ट्रेन से एक बार में इतनी बड़ी संख्या में लोगों को बचाने की घटनाओं में एक है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बोकारो में बच्चों को केरल जाने वाली एक ट्रेन से छुड़ाया गया।

उन्होंने बताया कि उसी ट्रेन के एक अन्य कोच में यात्रा कर रहे बच्चों के दूसरे समूह को अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे रांची रेलवे स्टेशन से छुड़ाने में स‍फलता मिली।

बोकारो के पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने बताया कि बच्चों के साथ यात्रा कर रहे छह व्यस्कों ने दावा किया कि वे बच्चों के जामताड़ा जिले से तेलंगाना के एक मदरसे में ले जा रहे थे।

उन्होंने बताया, ‘‘उनके अपने दावे को साबित करने के लिए दस्तावेज उपलब्ध कराने में विफल रहने पर तीन मौलवियों सहित सभी छह लोगों को हिरासत में ले लिया गया।’’

गौरतलब है कि पांच जुलाई को भी मुजफ्फपुर-बांद्रा अवध एक्सप्रेस से 26 नाबालिग लड़कियां मुक्त करायी गयी थीं। उनके बारे में एक यात्री ने प्रशासन को सूचना दी थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।