17 Feb 2019, 01:31 HRS IST
  • पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • लोगों को वाहनों में ईंधन का संकेत देने वाले स्टीकरों को पाने का तरीका पता होना चाहिए: न्यायालय

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:34 HRS IST

नयी दिल्ली, 10 अक्टूबर (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को कहा कि लोगों को जानकारी होनी चाहिए कि वाहन के ईंधन के बारे में संकेत देने वाले होलोग्राम आधारित रंगीन स्टीकर कैसे प्राप्त किये जा सकते हैं। शीर्ष अदालत ने कहा कि परिवहन मंत्रालय को इस संबंध में विज्ञापन जारी करने चाहिए।

न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने यह टिप्पणी उस समय की जब मंत्रालय की ओर से पेश अतिरिक्त सालिसिटर जनरल (एएसजी) ए एन एस नादकर्णी ने कहा कि लोग वाहन का पंजीकरण प्रमाणपत्र दिखाने के बाद जिला परिवहन कार्यालय से ये स्टीकर ले सकते हैं।

पीठ ने एएसजी से कहा, ‘‘लोगों को पता होना चाहिए कि इन्हें (स्टीकर) कैसे प्राप्त किया जाए। आप समाचार पत्रों में इसकी जानकारी दे सकते हैं और इस संबंध में विज्ञापन जारी कर सकते हैं।’’

शीर्ष अदालत ने 13 अगस्त को सडक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के प्रस्ताव को स्वीकार किया था जिसमें उसने कहा था कि होलोग्राम आधारित हल्के नीले रंग के स्टीकर पेट्रोल और सीएनजी ईंधन का उपयोग करने वाले वाहनों पर इस्तेमाल किये जाएंगे जबकि डीजल से चलने वाले वाहनों पर नारंगी स्टीकर लगाए जाएंगे।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।