16 Oct 2018, 03:10 HRS IST
  • हुबली : कर्नाटक में दशहरा समारोह में ‘गोट फाइट’ का आयोजन
    हुबली : कर्नाटक में दशहरा समारोह में ‘गोट फाइट’ का आयोजन
    गुवाहाटी : प्लास्टिक की बोतल से तैयार एक दुर्गा पूजा पंडाल
    गुवाहाटी : प्लास्टिक की बोतल से तैयार एक दुर्गा पूजा पंडाल
    कोलकाता : सियालदाह में पूजा पंडाल में ले जायी जा रही दुर्गा प्रतिमा
    कोलकाता : सियालदाह में पूजा पंडाल में ले जायी जा रही दुर्गा प्रतिमा
    नयी दिल्ली : रेनबो शो के फिनाले में फिल्म अभिनेत्री हुमा कुरैशी
    नयी दिल्ली : रेनबो शो के फिनाले में फिल्म अभिनेत्री हुमा कुरैशी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • पाक के प्रधान न्यायाधीश ने मुशर्रफ से कहा, स्वदेश लौट आइए, यहां अच्छे डॉक्टर हैं

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:39 HRS IST

इस्लामाबाद, 11 अक्टूबर (भाषा) पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार ने गुरुवार को दुबई में रह रहे पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह के मामले में अपना बयान दर्ज करने के लिए उनके सामने पेश होने का निर्देश दिया। न्यायाधीश ने कहा, ‘‘पाकिस्तान में अच्छे डॉक्टर हैं।’’

वर्ष 2016 से दुबई में रह रहे जनरल (सेवानिवृत्त) मुशर्रफ (75) वर्ष 2007 में संविधान निलंबित करने के लिए देशद्रोह मामले का सामना कर रहे हैं। पूर्व सेना प्रमुख मार्च 2016 में इलाज के लिए दुबई चले गये थे और तब से सुरक्षा तथा स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए लौटे नहीं हैं।

प्रधान न्यायाधीश ने व्यंग्यात्मक टिप्पणी 2007 में मुशर्रफ द्वारा लागू राष्ट्रीय सुलह अध्यादेश (एनआरओ) से संबंधित मामले की सुनवाई कर रही पीठ की अध्यक्षता करते हुए की।

एनआरओ ने नेताओं तथा अन्य लोगों के खिलाफ दर्ज विभिन्न भ्रष्टाचार और आपराधिक मामले निरस्त करके इन लोगों को क्षमा दी थी ताकि वे देश वापस लौटकर लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग ले सकें।

सुनवाई के दौरान, मुशर्रफ के वकील अख्तर शाह ने पूर्व राष्ट्रपति के देश वापसी के संबंध में जवाब सौंपा और कहा, ‘‘मैं पीठ से मेरे मुवक्किल की बीमारी गोपनीय रखने का आग्रह करता हूं।’’

हालांकि न्यायमूर्ति निसार ने टिप्पणी की, ‘‘इस देश में ऐसे लोग मौजूद हैं जो इस बीमारी से ग्रस्त हैं।’’

मुशर्रफ के वकील ने अनुरोध किया, ‘‘अगर मुशर्रफ के लिए स्वदेश लौटना जरूरी है तो उन्हें डॉक्टर को दिखाने की अनुमति मिलनी चाहिए और उनका नाम ‘निकास नियंत्रण सूची’ में नहीं होना चाहिए।’’

इस पर, प्रधान न्यायाधीश ने आश्वासन दिया, ‘‘मुशर्रफ को पाकिस्तान लौटने दीजिए, कोई उन्हें गिरफ्तार नहीं करेगा लेकिन मैं इस सूची से उनका नाम हटाने के बारे में कुछ नहीं कह सकता।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।