10 Dec 2018, 14:50 HRS IST
  • निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • विश्व चैम्पियनशिप में बजरंग को तीसरी वरीयता

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 20:59 HRS IST



नई दिल्ली, 11 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पहलवान बजरंग पूनिया आगामी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के लिए चुनी गयी 30 सदस्यीय भारतीय टीम में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी है जिन्हें वरीयता दी गयी है।



बुडापेस्ट में 20 से 28 अक्टूबर तक होने वाली विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में बजरंग को 65 किलो भारवर्ग में तीसरी वरीयता दी गयी है और मौजूदा फार्म को देखते हुए वह पदक के मजबूत दावेदार होंगे।



इस खेल की वैश्विक इकाई यूनाईटेढ वर्ल्ड रेस्लिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) पहली बार विश्व चैम्पियनशिप के लिए वरीयता अंक प्रणाली शुरू की है। विश्व संस्था द्वारा जारी रैंकिंग तालिका में बजरंग के नाम 45 अंक है।



इससे पहले पहलवानों को रैंडम ड्रा के लिए विभिन्न ग्रुप में बांटा जाता था।



जॉर्जिया में हुए तबलीसी ग्रां प्री और इस्तांबुल के यासर डोगू इंटरनेशनल जैसे रैंकिंग वाले टूर्नामेंटों के आधार पर विश्व चैंपियनशिप के लिए रैंकिंग अंक निर्धारित किये गये हैं।



बजरंग के अलावा 65 किग्रा भारवर्ग में तुर्की के सेलाहात्तिन किलिसाल्लायान (50 अंक) को शीर्ष वरीयता मिली है जबकि रूस के ईलियास बेक्बुलातोव दूसरे वरीयता होंगे।



बजरंग ने 2013 में इस प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था और अब उनका लक्ष्य इसमें स्वर्ण जीतने का है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं परिस्थितियों के अनुकूल ढलने और एकाग्र रहने के लिये यहां समय से पहले पहुंचा हूं। उम्मीद है कि मैं लोगों के उम्मीदों पर खरा उतरूंगा और स्वर्ण के साथ स्वदेश लौटूंगा।’’



वह पिछले दो सप्ताह से यहां के मात्रहाजा ओलंपिक प्रशिक्षण केन्द्र में अभ्यास कर रहे है। अन्य पहलवान बुधवार को यहां पहुंचे।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।