21 Oct 2020, 10:39 HRS IST
  • न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • कांग्रेस नेता का दावा - गोवा में भाजपा को तोड़ना चाहते थे विश्वजीत राणे, मंत्री ने आरोप खारिज किए

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 11:40 HRS IST

पणजी, 16 अक्टूबर (भाषा) कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव ए चेल्लाकुमार ने दावा किया है कि गोवा की भाजपा सरकार में मंत्री विश्वजीत राणे अगले साल लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में सत्ताधारी गठबंधन को तोड़कर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस में शामिल होना चाहते थे।

बहरहाल, राणे ने इस दावे को सिरे से खारिज किया है।

चेल्लाकुमार ने दावा किया कि दो महीने पहले तक राणे इस मुद्दे पर उनके संपर्क में थे।

उन्होंने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब गोवा में कांग्रेस के दो विधायक - दयानंद सोप्ते और सुभाष शिरोडकर - सोमवार की देर रात दिल्ली रवाना हुए। ऐसी अटकलें हैं कि सोप्ते और शिरोडकर भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

दोनों कांग्रेसी विधायकों के दिल्ली रवाना होने से कुछ देर पहले राणे भी राष्ट्रीय राजधानी रवाना हुए थे।

पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में राणे वालपोई सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते थे, लेकिन कुछ ही दिनों में उन्होंने विधायक पद और कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और सत्ताधारी भाजपा में शामिल हो गए।

चेल्लाकुमार ने सोमवार की रात फोन पर पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘सत्ताधारी पक्ष के कई लोग मेरे संपर्क में थे। हमारे दोस्त विश्वजीत राणे अक्सर मुझे फोन करते थे और उनमें डर था...उन्होंने दो महीने पहले भी मुझसे बात की थी।’’

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि राणे कहते थे कि वह कांग्रेसी हैं और हमेशा कांग्रेसी ही रहेंगे। वह ‘‘भाजपा को तोड़ देंगे’’ और कांग्रेस में वापस आ जाएंगे।

इन दावों को खारिज करते हुए राणे ने कहा कि चेल्लाकुमार ‘‘हताश इंसान’’ हैं, क्योंकि वह अपनी पार्टी के लोगों को एकजुट नहीं रख पा रहे।

भाजपा नेता राणे ने कहा, ‘‘मेरा उनसे (चेल्लाकुमार से) कोई संपर्क नहीं है। उन्होंने (कांग्रेस ने) तो उच्चतम न्यायालय तक में मेरे खिलाफ (अयोग्यता का) केस कर रखा है। मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है और मैंने कभी उनसे संपर्क नहीं किया। हालांकि, उन्होंने मुझसे संपर्क की कोशिश जरूर की।’’

मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के लंबे समय से अस्वस्थ होने की वजह से गोवा में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। यहां पर्रिकर के निजी आवास पर गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं।

गोवा की 40 सदस्यों वाली विधानसभा में पर्रिकर सरकार को 23 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। इनमें भाजपा के 14, जीएफपी और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के तीन-तीन विधायक हैं जबकि तीन विधायक निर्दलीय भी हैं।

कांग्रेस गोवा में सबसे बड़ी पार्टी है। उसके 16 विधायक हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।