21 Nov 2018, 02:2 HRS IST
  • भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बोइंग 737 मैक्स के साथ सेंसर संबंधी मुद्दों पर कार्रवाई करें जेट एयरवेज, स्पाइस जेट : डीजीसीए

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:0 HRS IST



नयी दिल्ली, आठ नवंबर (भाषा) विमानन क्षेत्र के नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) जेट एयरवेज और स्पाइस जेट से उनके बोइंग 737 मैक्स विमानों में सेंसर से जुड़े संभावित मुद्दों पर सुधारात्मक कदम उठाने के लिए कहा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस समस्या से विमान में ‘महत्वपूर्ण ऊंचाई (एल्टिट्यूड) कम’ होने की संभावना है।

पिछले महीने इंडोनेशिया में लायन एयर का एक बोइंग 737 मैक्स विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसके बाद बोइंग ने 737 मैक्स को लेकर परामर्श जारी किया। अमेरिका के विमानन नियामक फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) ने भी इस संबंध में वैश्विक परामर्श दिया है। इसके बाद डीजीसीए ने यह नवीनतम दिशानिर्देश जारी किया।

अभी देश में जेट एयरवेज और स्पाइस जेट बोइंग 737 मैक्स का परिचालन करते हैं। दोनों के पास ऐसे कम से कम छह विमान हैं।

डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि दोनों दस्तावेजों में सेंसर इनपुट से संबंधित खामी के बारे में बात की गई है। साथ ही इसके लिए सुधारात्मक कार्रवाई करने का जिक्र किया गया है, क्योंकि इसमें विमान को हवा में सीधा बनाए रखने वाले निर्देशों को बार-बार नीचे की तरफ (उसकी नोक को नीचे करने- नोज डाउन) इशारा करने की क्षमता है।

अधिकारी ने कहा कि यदि इस समस्या को सुलझाया नहीं जाता है तो इससे विमान के चालक दल को विमान पर नियंत्रण बनाए रखने में समस्या हो सकती है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में