21 Nov 2018, 00:46 HRS IST
  • भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    भ्रष्टाचार के दीमक को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी बड़े तेज दवाई का उपयोग जरुरी था: प्रधानमंत्री
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है : राहुल
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    सबरीमला: भगवान अयप्पा मंदिर का दर्शन करने जाते श्रद्धालुगण
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
    वार्षिक पुष्कर मेले में घुमता एक व्यापारी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add

कांग्रेस करती है शहरी माओवादियों का समर्थन-मोदी
  • Photograph Photograph  (1)
  • कांग्रेस करती है शहरी माओवादियों का समर्थन: मोदी

  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 16:9 HRS IST



जगदलपुर, नौ नवंबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वह ऐसे शहरी माओवादियों का समर्थन करती है जिन्होंने गरीब आदिवासी युवाओं का जीवन बर्बाद कर दिया है।



इस महीने के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने यह भी कहा कि कांग्रेस आदिवासियों का ‘मखौल’ उड़ाती है।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं नहीं जानता कि कांग्रेस क्यों आदिवासियों का उपहास उड़ाती है। एक बार मैं उत्तरपूर्व भारत में रैली में गया था और परंपरागत आदिवासी मुकुट पहना लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने इसका उपहास उड़ाया।

उन्होंने कहा कि वह तब तक चैन से नहीं बैठेंगे जब तक वह समृद्ध छत्तीसगढ़ के लिए दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के सपनों को पूरा नहीं कर देते।



मोदी ने माओवाद का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस नीत सरकार ने नक्सल प्रभावित बस्तर के विकास के लिए माओवाद का बहाना बना कर पर्याप्त काम नहीं किया।



उन्होंने कहा, ‘‘जो शहरी माओवादी हैं, वे शहरों में वातानुकूलित घरों में रहते हैं, वे साफ सुथरे दिखते हैं और उनके बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं, वे नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में रिमोट कंट्रोल से आदिवासी बच्चों का जीवन तबाह कर रहे हैं।’’



मोदी ने कहा, ‘‘मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि जब सरकार शहरी नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई करती है तो वह उनका समर्थन क्यों करती है और उन्हें बस्तर आकर नक्सलवाद के ख्रिलाफ बोलना चाहिये। ’’



प्रधानमंत्री ने नक्सलवाद को ‘‘शैतानी मनोवृत्ति वाला राक्षस ’’ करार दिया और कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने बस्तर क्षेत्र के विकास के लिए पर्याप्त काम नहीं किया।



उन्होंने कहा, ‘‘क्या आप ऐसे लोगों को माफ करेंगे? ये लोग छत्तीसगढ़ नहीं जीत पाएंगे। मैं आपसे यह सुनिश्चित करने की अपील करता हूं कि बस्तर क्षेत्र में भाजपा सभी सीटों पर विजयी हो। यदि कोई और जीतता है तो यह बस्तर के सपनों पर एक धब्बा होगा।’’

उन्होंने कहा कि जितनी बार वह बस्तर आये हैं उतनी बार कोई प्रधानमंत्री नहीं आया। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं खाली हाथ नहीं आया और आप लोगों के लिए कुछ योजनाएं और विकास कार्यक्रम लेकर आया हूं। हम इलाके से बेरोजगारी, गरीबी भूख को मिटाने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले यहां संसाधन थे लेकिन कुछ हुआ नहीं।’’

मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोगों की सेवा करना और अटल बिहारी वाजपेयी के समृद्ध राज्य के स्वप्न को साकार करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ उनका सपना पूरा किए बिना मैं चैन से नहीं बैठूंगा। छत्तीसगढ़ अब 18 बरस का हो गया है। जो विभिन्न सपने और महत्त्वाकांक्षाएं अब 18 साल की हो चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस दलितों, वंचित समूहों और आदिवासियों के बारे में बात तो करती है लेकिन वह उन्हें महज वोट बैंक समझती है न कि इंसान।’’

मोदी ने कहा, ‘‘ क्या आप ऐसी सरकार चाहते हैं जो काम करे या फिर विकास कार्यों को रोके।’’

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने लोगों के बीच भेदभाव नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘ पहले की सरकारों ने ऐसा किया। हमारी सरकार सभी के विकास के लिए काम करती है।

गौरतलब है कि 90 सदस्यों वाली छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में 12 और 20 नवम्बर को वोट डाले जायेंगे।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।