17 Feb 2019, 01:47 HRS IST
  • पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    पुलवामा हमला: कैबिनेट की बैठक में भाग लेते प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    जम्मू: पुलवामा हमले के विरोध में प्रदर्शन करते लोग
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुये गृहमंत्री राजनाथ सिंह
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
    नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नयी ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाते हुये
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • भारतीय दूरसंचार क्षेत्र काफी चुनौतीपूर्ण लेकिन संभावनाएं भी अपार: सुंदरराजन

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:54 HRS IST



नयी दिल्ली, छह दिसंबर (भाषा) दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने बृहस्पतिवार को भारतीय दूरसंचार बाजार को ‘बहुत चुनौतीपूर्ण’ करार देते हुये कहा कि इसमें आमूल बदलाव की शुरुआत भर हुई है और इसमें ना सिर्फ निवेश बल्कि मुनाफा कमाने की काफी संभावनाएं हैं।

सुंदरराजन ने कहा कि राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति के तहत निर्धारित 100 अरब डॉलर के निवेश का आकलन से बहुत ज्यादा नहीं है। उन्होंने कहा कि नयी दौर की प्रौद्योगिकी और 5जी के आगमन के साथ यह राशि भी कम पड़ सकती है।

सचिव ने कहा कि भारतीय दूरसंचार बाजार ‘गतिशील एवं उत्साहपूर्ण’ है साथ ही यह ‘बहुत चुनौतीपूर्ण’ भी है।

उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि हमने केवल शुरुआती बदलाव देखे हैं और मैं आश्वस्त हूं कि बहुत से बदलाव होने वाले हैं लेकिन यह बहुत बड़ा बाजार है, इस बाजार में निवेश एवं उसे मुनाफा योग्य बनाने की अपार संभावनाएं हैं।”

ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम की ओर से आयोजित ‘डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया’ पर आयोजित परिचर्चा के दौरान सुंदरराजन ने इस बात की ओर इशारा किया कि किस प्रकार चीन और विश्व का एक बड़ा हिस्सा डिजिटल संचार के क्षेत्र में बहुत अधिक निवेश कर रहा है।

उन्होंने कहा कि इसकी वजह यह है कि आने वाले समय में शिक्षा से लेकर स्वास्थ्य सुविधाओं और रोजगार से लेकर मनोरंजन का माध्यम डिजिटल होगा।

सुदरराजन ने कहा, ‘‘दूरसंचार क्षेत्र में वैश्विक खर्च बढ़कर 4,000 अरब डालर तक पहुंच जाने का अनुमान है। डिजिटल दूरसंचार ढांचा क्षेत्र में चीन हर साल 188 अरब डालर का निवेश कर रहा है। केवल 5जी के क्षेत्र में ही चीन का चीन का बजट 500 अरब डालर रहने का अनुमान है। माना जा रहा है कि वैश्विक जीडीपी में 5जी का प्रभाव काफी अहम होगा और यह दोगुनी हो सकता है। यही वजह है कि अनेक दंश दूरसंचार क्षेत्र के ढांचे में काफी निवेश कर रहे हैं।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में