16 Dec 2018, 03:2 HRS IST
  • म्यामांर के दौरे पर राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद
    म्यामांर के दौरे पर राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद
    शिमला में बर्फबारी का एक नजारा
    शिमला में बर्फबारी का एक नजारा
    मुंबई में एक कार्यक्रम में तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा
    मुंबई में एक कार्यक्रम में तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा
    संसद के मानसून सत्र शुरू हुआ
    संसद के मानसून सत्र शुरू हुआ
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • हुवावेई गिरफ्तारी मामले में कोई राजनीति नहीं: ट्रूडो

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:47 HRS IST



मोंट्रियाल, सात दिसंबर (एएफपी) कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने बृहस्पतिवार को कहा कि चीनी कंपनी हुवावेई के शीर्ष अधिकारी की गिरफ्तारी मामले में राजनीति नहीं की गयी है।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी को आश्वस्त कर सकता हूं कि हम एक स्वतंत्र न्यायपालिका रखने वाले देश हैं, और वह बिना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप के स्वतंत्र निर्णय लेती है।’’

उल्लेखनीय है कि हुवावेई के संस्थापक की बेटी मेंग वानझोउ को कनाडा में गिरफ्तार किया गया है। उन्हें अमेरिका प्रत्यर्पित किया जा सकता है। अमेरिकी अधिकारियों ने हुवावेई द्वारा ईरान पर लगे प्रतिबंधों के संदिग्ध उल्लंघन की जांच शुरू की थी। इसके बाद मेंग वानझोउ को गिरफ्तार किया गया। कंपनी पहले से ही अमेरिकी खुफिया एजेंसी की निगाहों में है क्योंकि वह हुवावेई को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा मानते हैं।

फिलहाल इस संबंध में सूचनाओं के प्रसारण पर प्रतिबंध है और वह विस्तृत जानकारी नहीं दे सकते हैं। यह प्रतिबंध मेंग के अनुरोध पर लगाया गया है।

प्रधानमंत्री ट्रूडो ने इस संबंध में और कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया।

इससे पहले कनाडा के रक्षा मंत्री हरजीत सज्जन ने भी कहा कि कनाडा की पुलिस एजेंसी ‘स्वतंत्र’ तौर पर काम करती है।

हालांकि इस मामले पर चीन ने अमेरिका और कनाडा के समक्ष नाराजगी जतायी है।

बीजिंग से मिली खबर के मुताबिक चीन के सरकारी मीडिया में इस गिरफ्तारी को ‘घिनौनी हरकत’ बताया गया है।

ग्लोबल टाइम्स ने अपने संपादकीय में कहा, ‘‘चीन की सरकार को चीनी प्रौद्योगिकी कंपनियों को दबाने के लिए वैधानिक तरीकों की अवहेलना करने के अमेरिका के तौर-तरीकों को गंभीरता से लेना चाहिए। निश्चित तौर पर यह अमेरिका के ‘घिनौने कृत्य’ को दर्शाता है। लेकिन इससे हुवावेई को 5जी तकनीक बाजार में लाने से नहीं रोका जा सकता है।’’

एएफपी शरद पवन पवन 0712 1749 मोंट्रियाल

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में