22 Jan 2019, 16:14 HRS IST
  • रणजी ट्राफी के एक मैच में बाॅलिंग करते उमेश यादव
    रणजी ट्राफी के एक मैच में बाॅलिंग करते उमेश यादव
    प्रयाग कुंभ में पूजा अर्चना करता साधु
    प्रयाग कुंभ में पूजा अर्चना करता साधु
    धुंध के आगोश में लिपटी राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली
    धुंध के आगोश में लिपटी राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली
    गणतंत्र दिवस परेड का पूर्वाभ्यास करते जवान
    गणतंत्र दिवस परेड का पूर्वाभ्यास करते जवान
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • रोहित ने कहा, धोनी के लिये आदर्श हे चौथा नंबर

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 19:37 HRS IST



सिडनी, 12 जनवरी (भाषा) कप्तान विराट कोहली की राय से उलट भारतीय वनडे टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा ने शनिवार को कहा कि महेंद्र सिंह धोनी के लिये बल्लेबाजी क्रम में आदर्श स्थान नंबर चार है।



भारतीय टीम विश्व कप से पहले बल्लेबाजी क्रम को तय करने में लगी है और रोहित ने कहा कि यह उनकी निजी राय है तथा कप्तान और कोच का फैसला अंतिम होगा।



धोनी ने शनिवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में 96 गेंदों पर 51 रन बनाये और भारत को यह मैच 34 रन से गंवाना पड़ा। इससे धोनी की वर्तमान फार्म को लेकर फिर से बहस शुरू हो गयी है।



भारतीय पारी में शतक जड़ने वाले रोहित ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘निजी तौर पर मेरा मानना है कि धोनी का नंबर चार पर बल्लेबाजी करना टीम के लिये आदर्श स्थिति होगी लेकिन हमारे पास अंबाती रायुडु है जो वास्तव में नंबर चार पर अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। यह पूरी तरह से इस पर निर्भर करता है कि कप्तान और कोच इस बारे में क्या सोचते हैं। मेरी व्यक्तिगत राय पूछो तो मुझे धोनी को नंबर चार पर उतारने में खुशी होगी।’’



कोहली ने इससे पहले इस स्थान के लिये अपनी पसंद रायुडु को बताया था।



भारत ने 289 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित के वनडे में 22वें शतक तथा धोनी के साथ 141 रन की साझेदारी के बावजूद नौ विकेट पर 254 रन ही बना पाया।



रोहित ने कहा, ‘‘अगर आप धोनी की ओवरऑल बल्लेबाजी पर गौर करो तो उनका स्ट्राइक रेट 90 के करीब है। आज परिस्थिति भिन्न थी। जब वह बल्लेबाजी के लिये आये तब हमने तीन विकेट गंवा दिये थे और आस्ट्रेलिया बहुत अच्छी गेंदबाजी कर रहा था। आप शतकीय साझेदारी आसानी से नहीं निभा सकते। इसलिए हमने क्रीज पर कुछ समय बिताया और यहां तक कि मैं भी तेजी से रन नहीं बना पाया।’’



उन्होंने कहा, ‘‘मैंने भी कुछ समय लिया क्योंकि हम यह साझेदारी निभाना चाहते थे। अगर हम उस समय एक और विकेट गंवा देते तो मैच वहीं पर हमारे हाथ से निकल जाता। इसलिए हमने गेंदें खाली जाने दी और साझेदारी पर ध्यान दिया।’’



मैच से पहले धोनी को ‘टीम का प्रकाशपुंज’ करार देने वाले रोहित ने इसके साथ ही कहा कि यह पूर्व कप्तान टीम के लिये किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी करने के लिये तैयार है।



उन्होंने कहा, ‘‘यह उनके लिये बेहद सरल है और वह चीजों को जटिल नहीं बनाते। हमने साझेदारी निभाने पर बात की क्योंकि तब यह जरूरी था।’’



भारत ने शिखर धवन, कोहली और रायुडु के विकेट जल्दी गंवा दिये और रोहित ने कहा कि इससे अन्य बल्लेबाजों पर पारी संवारने का दबाव बन गया।



रोहित ने कहा, ‘‘हम जानते थे कि हम गेंदबाजों को दबाव में ला सकते हैं। दुर्भाग्य से हमने गलत समय पर विकेट गंवाये। पहले तीन विकेट और उसके बाद जब साझेदारी के कारण हम मजबूत स्थिति में लग रहे थे तब धोनी आउट हो गये और उसके बाद हमें लग गया था कि अब लक्ष्य तक पहुंचना मुश्किल होगा।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।