10 Aug 2020, 10:39 HRS IST
  • राम मंदिर राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रीय भावना का प्रतीक: मोदी
    राम मंदिर राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रीय भावना का प्रतीक: मोदी
    देश में एक दिन में कोविड-19 के 54,735 नए मामले, कुल मामले 17 लाख के पार
    देश में एक दिन में कोविड-19 के 54,735 नए मामले, कुल मामले 17 लाख के पार
    कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है, बहुत ही ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत : मोदी
    कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है, बहुत ही ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत : मोदी
    भारत में कोविड-19 के मामले 13 लाख के पार, मृतकों की संख्या 31,358 हुई
    भारत में कोविड-19 के मामले 13 लाख के पार, मृतकों की संख्या 31,358 हुई
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • पुन:जारी स्थगित दो अंतिम रास

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:41 HRS IST

एक बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे सदन की बैठक शुरु होने पर उपसभापति हरिवंश ने मंगलवार को संसद के केन्द्रीय कक्ष में पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के चित्र का अनावरण किए जाने की सूचना दी।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंगलवार को सुबह दस बजे केन्द्रीय कक्ष में वाजपेयी के चित्र का अनावरण करेंगे। उन्होंने इस मौके पर सभी सदस्यों से उपस्थित रहने की अपील की।

इसके बाद हरिवंश ने भाजपा के भूपेन्द्र यादव से राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा शुरु करने के लिये कहा। इस पर सपा, बसपा और कांग्रेस सहित विभिन्न विपक्षी दलों के सदस्य विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कराने की मांग करने लगे।

उपसभापति ने कहा कि सभापति के समक्ष विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कराने के लिये नियम 267 के तहत नोटिस दिये गये लेकिन उन्होंने इन्हें अस्वीकार कर दिया। ऐसे में वह सभापति की अनुमति के बिना किसी भी विषय को उठाने की अनुमति नहीं दे सकते। तब तृणमूल कांग्रेस के सुखेन्दु शेखर राय ने व्यवस्था का प्रश्न उठाने की मांग की। लेकिन उपसभापति ने सदन में व्यवस्था नहीं होने के कारण राय को यह प्रश्न उठाने की अनुमति नहीं दी।

इस बीच तृणमूल कांग्रेस, तेदेपा और कांग्रेस के सदस्य आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। तृणमूल कांग्रेस के सदस्य राय को व्यवस्था का प्रश्न उठाने की अनुमति देने की मांग कर रहे थे। तेदेपा के सदस्य आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे थे और कांग्रेस के सदस्य कर्नाटक में विधायकों की कथित खरीद फरोख्त के विरोध में नारेबाजी कर रहे थे।

इस बीच सपा और बसपा के सदस्य उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत का मुद्दा उठाते हुये इस पर चर्चा कराने की मांग कर रहे थे।

लगातार हंगामे के बीच उपसभापति हरिवंश ने सभी सदस्यों से सदन में व्यवस्था बनाने के लिये अपने अपने स्थान पर जाने की अपील करते हुये कहा कि कुछ ऐसे मुद्दे उठाये जा रहे हैं जिन पर ना तो नोटिस दिया गया है ना ही इसकी कोई सूचना है। उन्होंने कहा कि कार्य मंत्रणा समिति में सदन की कार्यवाही को सुचारु बनाने पर सहमति कायम होने के बावजूद बैठक को नहीं चलने देना दुर्भाग्यपूर्ण है।

नारेबाजी नहीं थमने पर उन्होंने दो बज कर करीब पांच मिनट पर ही सदन की बैठक दिन भर के लिये स्थगित कर दी। उल्लेखनीय है कि उच्च सदन में विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी दलों के हंगामे के कारण लगातार छह दिन से बैठक सुचारु रूप से नहीं चल पा रही है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।