25 Mar 2019, 21:7 HRS IST
  • विपक्ष आतंकवाद के समर्थकों की शरणस्थली है - मोदी
    विपक्ष आतंकवाद के समर्थकों की शरणस्थली है - मोदी
    वृंदावन:भाजपा सांसद हेमामालिनी ने  अपने घर में मनायी होली
    वृंदावन:भाजपा सांसद हेमामालिनी ने अपने घर में मनायी होली
    हावड़ा : मंदिर के प्रांगण में होली खेलते श्रद्धालु
    हावड़ा : मंदिर के प्रांगण में होली खेलते श्रद्धालु
    अहमदाबाद : रंगों में सराबोर एक लड़की
    अहमदाबाद : रंगों में सराबोर एक लड़की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • रसूखदार संघीय न्यायाधीश के पद के लिए नेओमी राव के नाम को सीनेट की मंजूरी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:18 HRS IST

वाशिंगटन, 14 मार्च (भाषा) अमेरिकी सीनेट ने देश की सर्वाधिक शक्तिशाली अदालतों में से एक ‘‘डीसी सर्किट कोर्ट ऑफ अपील्स’’ के न्यायाधीश पद के लिए भारत मूल की चर्चित अमेरिकी वकील नेओमी राव के नाम पर मुहर लगा दी।

यौन उत्पीड़न पर अपने लेखों की वजह से आलोचना झेल चुकीं 45 वर्षीय नेओमी, विवादित शख्सियत ब्रेट कावनाह की जगह लेंगी। अमेरिकी सीनेट ने बुधवार को नेओमी के नाम को 46 के मुकाबले 53 मतों से मंजूरी दी। यह मतदान आमतौर पर पार्टी के रुख के आधार पर होता है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी उच्चतम न्यायालय के लिए पिछले साल कावनाह को नामित किया था जिसके बाद कुछ ऐसे घटनाक्रम हुए कि कावनाह विवादों में घिरते गए।

फिलहाल नेओमी प्रबंधन एवं बजट कार्यालय में ‘एडमिनिस्ट्रेटर ऑफ द ऑफिस ऑफ इन्फॅर्मेशन एंड रेग्युलेटरी अफेयर्स’ (ओआईआरए) के पद पर कार्यरत हैं। इस पद पर रहते हुए उन्होंने नियमन सुधार में अहम भूमिका निभाई।

विपक्षी डेमोक्रेटिक सांसदों और यहां तक कि कुछ रिपब्लिकन सांसदों ने नेओमी का कड़ा विरोध किया। अधिकार समूहों ने उनके खिलाफ देशव्यापी अभियान भी चलाया था। इस विरोध का कारण यौन उत्पीड़न तथा अल्पसंख्यकों के बारे में उनका रूख था।

राव को न केवल ट्रंप प्रशासन में अपने काम के लिए बल्कि येल विश्वविद्यालय की छात्रा के रूप में दशकों पहले लिखे लेखों को लेकर कड़े प्रश्नों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने अपने लेखों में महिलाओं को बलात्कार से बचने के लिए अपना व्यवहार बदलने का सुझाव दिया था। हालांकि राव ने अपने लेखों के लिए पिछले महीने माफी मांगी थी।

कुल 100 सदस्यों वाली अमेरिकी सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का वर्चस्व है।

शपथ लेने के बाद ‘‘डीसी सर्किट कोर्ट ऑफ अपील्स’’ में नेओमी दूसरी भारतीय अमेरिकी होंगी। इस अदालत को अमेरिकी उच्चतम न्यायालय के बाद सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है।

विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी का कहना है कि नेओमी इस पद के लिए मंजूरी की पात्र नहीं हैं।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।