21 May 2019, 12:28 HRS IST
  • प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
    अनंतनाग में मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर
    अनंतनाग में मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • श्रीलंका में सिलसिलेवार विस्फोट : विश्व नेताओं ने की निंदा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 20:20 HRS IST

कोलंबो/लंदन, 21 अप्रैल (भाषा) श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर रविवार को हुए सिलसिलेवार विस्फोटों की अमेरिका, ब्रिटेन, रूस ,न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश समेत दुनियाभर के नेताओं ने निंदा की।

श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर रविवार को तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में हुए विस्फोटों में 200 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। इन विस्फोटों में दर्जनों विदेशी नागरिकों के भी मारे जाने का अंदेशा है।

ये विस्फोट स्थानीय समयानुसार करीब पौने नौ बजे ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान कोलंबो के सेंट एंथनी चर्च, पश्चिमी तटीय शहर नेगेम्बो के सेंट सेबेस्टियन चर्च और बट्टिकलोवा के एक चर्च में हुए।

वहीं अन्य तीन विस्फोट पांच सितारा होटलों - शंगरीला, द सिनामोन ग्रांड और द किंग्सबरी में हुए। विस्फोट में घायल हुए विदेशी और स्थानीय लोगों को कोलंबो जनरल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

सातवां विस्फोट चिड़ियाघर के सामने स्थित एक होटल में हुआ है, जबकि आठवां धमाका एक आवासीय परिसर में हुआ।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘‘गिरजाघरों और होटलों पर भायनक आतंकी हमले पर श्रीलंका के लोगों के प्रति अमेरिकी लोगों की गहरी संवेदनाएं। हम मदद के लिए तैयार हैं।’’

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेसा मे इन विस्फोटों को ‘भयावह’ करार दिया।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ ‘‘श्रीलंका में गिरजाघरों और होटलों पर हिंसक कृत्य वाकई भयावह है और मेरी संवेदना दुख की इस घड़ी में प्रभावित लोगों के साथ हैं। ’’

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मोर्रिसन ने कहा कि उनका देश ‘भयानक आतंकी हमले’ में मारे गए लोगों के लिए फिक्रमंद है।

उन्होंने एक बयान में कहा कि श्रीलंका के खूबसूरत लोगों के प्रति ऑस्ट्रेलिया संवेदनाएं व्यक्त करता है और प्रार्थना करता है तथा अपना समर्थन देता है।’’

क्राइस्टचर्च में दो मुस्जिदों पर आतंकी हमले के एक महीने बाद श्रीलंका में हुए विस्फोटों को न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने ‘विनाशकारी’ बताया।

उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड सभी तरह के आतंकवादी कृत्यों की निंदा करता है और 15 मार्च को हमारी सरजमीं पर हुए हमले के बाद हमारा संकल्प और मजबूत हुआ है। श्रीलंका में गिरजाघरों और होटलों पर हमला विनाशकारी है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी बर्बर आतंकी हमले की निंदा की है।

उन्होंने ट्वीट किया ‘‘ श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर रविवार को हुए भीषण आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता हूं, जिसमें लोगों की जान गई है और सैकड़ों लोग जख्मी हुए हैं। मेरी गहरी संवेदनाएं हमारे श्रीलंकाई भाइयों के साथ हैं। पाकिस्तान इस दुखद समय में श्रीलंका के साथ पूरी एकजुटता से खड़ा है।’’

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने विस्फोटों को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की।

एक संदेश में उन्होंने दिवंगत आत्माओं की शांति की प्रार्थना की और शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की।

हसीना ने घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की।

नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने ‘जघन्य’ आतंकी हमले की निंदा करते हुए श्रीलंका के लोगों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की।

ओली ने ट्वीट किया, ‘‘ मुझे श्रीलंका में एक के बाद एक हुए विस्फोटों और उनमें बेगुनाह लोगों की मौत से बहुत दुख पहुंचा है। मैं श्रीलंका के प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे और बर्बरता के पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।’’

यूरोपीय संघ के नेताओं ने ईस्टर के मौके पर रविवार को हुए हमले की निंदा की।

जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक-वाल्टर स्टीनमेयर श्रीलंका के अपने समकक्ष को भेजे संदेश में कहा कि वह इस कायराना आतंकी हमले से स्तब्ध हैं।

ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबस्टियन कुर्ज़ ने ट्विटर पर लिखा कि वह आतंकी हमलों से हिल गए हैं और इनकी निंदा करते हैं।

जर्मनी की चांसलर एजेंला मार्केल ने कहा कि आतंकवाद, धार्मिक नफरत और असहिष्णुता को जीतने नहीं दिया जा सकता है।’’

बहरीन, कतर और संयुक्त अरब अमीरात, सभी ने अपने विदेश मंत्रालयों के जरिए बयान जारी कर हमले की निंदा की है।

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोआन ने श्रीलंका में हुए हमलों की निंदा करते हुए इसे ‘‘समूची मानवता पर हमला’’ करार दिया है।

मिस्र में स्थित दुनिया में सुन्नी मुसलामानों के सबसे अहम धार्मिक संस्थान अल अजहर ने ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में आतंकवादी हमले की निंदा की।

संस्थान के इमाम-ए-आज़म शेख अहमद अल तैयब ने कहा, ‘‘ मैं इसकी कल्पना भी नहीं कर सकता हूं कि एक इंसान उनके शंतिपूर्ण समारोह के दिन को निशाना बना सकता है।’’

तैयब की टिप्पणी को अल अजहर के ट्विटर अकांउट पर पोस्ट किया गया है जिसमें कहा गया है कि उन आतंकवादियों का विकृत स्वभाव सभी धर्मों की शिक्षाओं के विरुद्ध है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।