26 May 2020, 15:51 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • कांग्रेस कहती कुछ है, करती है कुछ : गृह मंत्री

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:9 HRS IST

बीकानेर, 22 अप्रैल (भाषा) गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि नेताओं की कथनी और करनी में अंतर होने के कारण भारत की राजनीति में विश्वास का संकट पैदा हुआ है और भाजपा ने इस विश्वास के संकट को चुनौती के रूप में स्वीकार किया है। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है।’’

गृह मंत्री ने कहा ‘‘ हम वहीं कहेंगे जो करेंगे। हम आपकी आंखों में धूल झोंककर राजनीति नहीं करेंगे। हमको राजनीति करनी होगी तो हम आपकी आंखों में आंख डालकर राजनीति करेंगे।’’

कोलायत में एक जनसभा को संबोधित कर रहे सिंह ने कहा कि राजनीतिक इतिहास के पन्नों को पलट कर देखा जाये तो कांग्रेस ने वादे बहुत किये हैं लेकिन अपने वादों को पूरा नहीं किया। ‘‘कांग्रेस ने आंशिक रूप से भी अपने वादों को पूरा लिया होता तो आज हमारा भारत दुनिया का सबसे धनवान देश बन गया होता।’’

राजनाथ ने कहा, ‘‘ कभी वादा पूरा नहीं किया। कहते हैं कुछ, करते हैं कुछ।’’

उन्होंने कहा ‘‘अब कांग्रेस कहती है कि गरीबी दूर करेंगे, पहले जवाहर लाल नेहरू कहते थे कि गरीबी दूर करेंगे। राजीव गांधी ने भी कहा कि गरीबी हटाओ। अब राहुल गांधी आ गये हैं, कह रहे हैं कि गरीबी हटाओ .... गरीबी हटी ही नहीं क्योंकि गरीबी का दौर इन्होंने महसूस ही नहीं किया है। ये क्या गरीबी हटायेंगे।’’

गृह मंत्री ने कहा कि जिस दिन यह देश कांग्रेस मुक्त हो जायेगा उसी दिन हमारा भारत गरीबी से भी मुक्त हो जायेगा।

सिंह ने कहा कि अमेरिका के एक शोध संस्थान की रिपोर्ट के अनुसार, 2016 में जब उन्होंने सर्वे किया था तब भारत में 12.5 करोड़ लोग ऐसे थे जो गरीबी के गंभीर संकट से गुजर रहे थे लेकिन जब 2019 में सर्वे किया तब साढे़ सात करोड़ लोग गंभीर गरीबी के संकट से बाहर हो गये हैं और भारत में गरीबों की संख्या पांच करोड़ रह गई है।

उन्होंने कहा ‘‘ मैं कांग्रेस के दोस्तों से कहना चाहता हूं कि गरीबी कैसे दूर की जाती है, यह अगर सीखना है तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सीखा जा सकता है। ’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।