27 Jun 2019, 15:32 HRS IST
  • न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • द्विपक्षीय साझेदारी पर चर्चा के लिए मोदी, जयशंकर से मुलाकात करेंगे पोम्पिओ

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 8:46 HRS IST

(ललित के झा)

वॉशिंगटन, 12 जून (भाषा) अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ इस महीने नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात के दौरान अमेरिकी-भारतीय सामरिक साझेदारी के ‘‘एक महत्वाकांक्षी एजेंडे’’ पर चर्चा करेंगे।

पोम्पिओ 24 से 30 जून तक हिंद-प्रशांत क्षेत्र के चार देशों- भारत, श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा करेंगे।

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्तागस ने मंगलवार को कहा कि पोम्पिओ की हिंद-प्रशांत के चार देशों की यात्रा का मकसद महत्वपूर्ण देशों के साथ अमेरिका की साझेदारियों को और मजबूत करना है ताकि मुक्त और खुले हिंद-प्रशांत के साझा लक्ष्य को पाने की दिशा में आगे बढ़ा जा सके।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी को चुनाव में हाल में मिली जीत उन्हें शानदार अवसर मुहैया कराती है, जब वह वैश्विक मंच पर अहम भूमिका निभाने वाले मजबूत एवं समृद्ध भारत के लिए अपने दृष्टिकोण को लागू कर सकते हैं।’’

उन्होंने विस्तृत जानकारी दिए बिना बताया कि मोदी और जयशंकर के साथ बैठक में पोम्पिओ ‘‘भारत और अमेरिका की सामरिक साझेदारी के लिए हमारे महत्वाकांक्षी एजेंडे पर चर्चा’’ करेंगे।

पोम्पिओ नयी दिल्ली से कोलंबो जाएंगे जहां वह ईस्टर के मौके पर हुए आतंकवादी हमले के खिलाफ श्रीलंका के लोगों के प्रति एकजुटता दिखाएंगे।

इसके बाद पोम्पिओ जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में ओसाका (जापान) जाएंगे। इसके बाद वह दक्षिण कोरिया जाएंगे।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में