27 Jun 2019, 15:31 HRS IST
  • न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • चीन ने सुन वीदोंग को भारत में अपना नया राजदूत नियुक्त किया

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 11:39 HRS IST

(के जे एम वर्मा)

बीजिंग, 12 जून (भाषा) चीन ने दक्षिण एशियाई मामलों के विशेषज्ञ एवं बीजिंग में भारतीय राजदूत के तौर पर तैनात रह चुके विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ करीब से काम कर चुके सुन वीदोंग को भारत में अपना नया राजदूत नियुक्त किया है।

पाकिस्तान में चीन के राजदूत के तौर पर काम कर चुके सुन चीनी विदेश मंत्रालय के नीति एवं योजना विभाग के महानिदेशक रहे हैं।

इससे पहले भारत में चीन के राजदूत लुओ जाओहुई थे। उन्हें विदेश मामलों का उप मंत्री नियुक्त किया गया है।

भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने यहां ‘पीटीआई भाषा’ को बताया कि सुन की नियुक्ति को लेकर भारत ने चीन को समझौते के बारे में बता दिया है।

चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने सुन को बधाई देते हुए ट्वीट किया, ‘‘भारत में चीन जनवादी गणराज्य के नए राजदूत के तौर पर नियुक्त किए गए माननीय सुन वीदोंग को बधाई।’’

चीन और दक्षिण एशिया के संबंधों में विशेषज्ञता रखने वाले सुन ने भारतीय विदेश मंत्री के साथ उस समय निकटता से मिलकर काम किया था जब जयशंकर 2009 से 2013 के बीच भारतीय राजदूत के तौर पर बीजिंग में नियुक्त थे। उस समय सुन उपमहानिदेशक थे।

मिस्री ने चीन के उपविदेश मंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने वाले लुओ से भी मुलाकात की।

यहां भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया, ‘‘राजदूत विक्रम मिस्री ने उप विदेश मंत्री और भारत में चीन के पूर्व राजदूत लुओ जाओहुई से मुलाकात की। राजदूत ने उपविदेश मंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने के लिए लुओ को बधाई दी। दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय संबंधों से जुड़ी आगामी गतिविधियों पर विचार विमर्श किया।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में