27 Jun 2019, 16:17 HRS IST
  • न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • सपा नेता की हत्या के मामले में तीन गिरफ्तार

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:50 HRS IST

नोएडा, 12 जून (भाषा) सपा नेता रामटेक कटारिया की 31 मई की दिन दहाड़े गोली मारकर की गई हत्या के मामले में पुलिस ने बुधवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। यह हत्या पुरानी रंजिश के चलते की गई थी।

एसपी ग्रामीण विनीत जयसवाल ने बताया कि 31 मई को थाना दादरी क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के दादरी विधानसभा अध्यक्ष रामटेक कटारिया की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि इस मामले में सात लोगों को नामित करते हुए मृतक के परिजन ने थाना दादरी में हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

एसपी ने बताया कि मामले की जांच कर रही थाना दादरी पुलिस ने इस घटना में शामिल बालेसर, नीटू व कपिल को गिरफ्तार किया है। इस घटना में कुछ और लोग भी शामिल हैं, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि वर्ष 2019 के जनवरी माह में मुख्य आरोपी बलेसर के भाई रमेश का शव जनपद अलीगढ़ में रेलवे ट्रैक पर मिला था। इस मामले में बलेसर ने रामटेक कटेरिया व उनके परिजन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था, लेकिन पुलिस ने जांच में यह मामला एक्सीडेंट का पाया।

उन्होंने बताया कि बलेसर इस बात को लेकर रामटेक से रंजिश मानता था, उसे शक था कि अपने राजनीतिक प्रभाव के चलते रामटेक उसकी भी हत्या करवा देगा। उन्होंने बताया कि भाई की मौत का बदला लेने के उद्देश्य से ही बलेसर ने हत्या की योजना बनाई थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।