27 Jun 2019, 15:46 HRS IST
  • न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    न्यायालय का गुजरात में रास की दो सीटों पर अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इंकार
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    सिरिसेना से मिले प्रधानमंत्री मोदी, पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
    मोदी ने गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे प्रिय है केरल
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • इंटरनेट को 2022 तक सबकी पहुंच में लाने के लिए ठोस रणनीति पर काम कर रही मोदी सरकार: अजीत पई

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:42 HRS IST

वाशिंगटन, 13 जून (भाषा) भारत 2022 तक इंटरनेट को सबकी पहुंच में लाने के लिए मजबूत नीतियां अपना रहा है। भारतीय मूल के शीर्ष अमेरिकी अधिकारी अजीत पई ने यह बात कही। हालांकि उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में ब्रांडबैंड नेटवर्क के विस्तार को एक बड़ी चुनौती बताया।

अमेरिका के संघीय संचार आयोग के चेयरमैन पई ने बुधवार को ‘इंडिया आइडियाज’ शिखर सम्मेलन में कहा, ‘‘ मैं 2022 तक इंटरनेट को सबकी पहुंच में लाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार के महत्वाकांक्षी लक्ष्य की सराहना करता हूं। सरकार 2022 तक 50 प्रतिशत घरों को फिक्स्ड ब्राडबैंड से जोड़ने के लक्ष्य पर काम कर रही है।’’

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार ‘डिजिटल इंडिया’ कार्यक्रम के तहत देश में ऑनलाइन बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने और इंटरनेट संपर्क बढ़ाने पर काम कर रही है। इसका मकसद देश को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था बनाना है।

पई ने कहा कि इन लक्ष्यों को पाने के लिए सरकार ठोस रणनीति अपना रही है। इसमें ग्रामीण अंचलों में करीब 20 लाख सार्वजनिक वाई-फाई हॉटस्पॉट लगाना और सार्वभौमिक सेवा दायित्व कोष का पुनर्गठन कर उसका विस्तार करना जैसे कदम शामिल हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में