23 Jul 2019, 06:55 HRS IST
  • बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जी 20 देशों ने आठ महीने में व्यापार में बाधा खड़ा करने वाले 20 नए कदम उठाए: डब्ल्यूटीओ

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 16:36 HRS IST

नयी दिल्ली , 26 जून (भाषा) जी -20 समूह के देशों ने पिछले आठ महीनों (अक्टूबर 2018 से मार्च 2019) में व्यापार में बाधा डालने वाले 20 नए कदम उठाए हैं। इनमें उच्च सीमा - शुल्क और आयात पर प्रतिबंध समेत अन्य उपाय शामिल हैं। विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने अपनी एक रपट में यह बात कही।

जी 20 समूह में अर्जेंटीना , ऑस्ट्रेलिया , ब्राजील , कनाडा , चीन , फ्रांस , जर्मनी , भारत , जापान , रूस , ब्रिटेन और अमेरिका समेत अन्य देश शामिल हैं।

रिपोर्ट में कहा , " संख्या के आधार पर , जी 20 अर्थव्यवस्थाओं ने मध्य अक्टूबर 2018 से मध्य मई 2019 के बीच शुल्क वृद्धि , आयात पर प्रतिबंध और निर्यात के लिए नई सीमा शुल्क प्रक्रियाएं समेत व्यापार में बाधा पहुंचाने वाले कुल 20 नए उपाय किए हैं। "

डब्ल्यूटीओ ने अपनी 21 वीं निगरानी रपट 24 जून को जारी की। इसमें जी 20 समूह की ओर से किए गए व्यापार उपायों के बारे में बताया गया है। यह रपट जापान में आयोजित जी 20 शिखर बैठक से पहले जारी की गई।

व्यापार को बाधित करने वाले ये उपाय भारत समेत अन्य सदस्य देशों के निर्यात और आयात दोनों को प्रभावित करते हैं।

डब्ल्यूटीओ के महानिदेशक रॉबर्टो एजेवेदो ने कहा , " यह बात पूरे अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए " गंभीर चिंता का विषय " होना चाहिए। "

उन्होंने कहा , " हम चाहते हैं कि व्यापार मोर्चे पर जारी तनाव को कम करने के लिए जी 20 नेतृत्वकर्ता की भूमिक निभाए। कारोबार को लेकर अपनी प्रतिबद्धता और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यापार प्रणाली को अनुसरण करे।"

रपट में कहा गया है कि व्यापार को आसान बनाने के लिए जी20 अर्थव्यवस्थाओं ने कुल 29 नए उपाय किए हैं। जिनमें आयात शुल्क को कम करना या हटाना , निर्यात शुल्क और निर्यात के लिए सीमा शुल्क प्रक्रियाओं को सरलीकरण बनाना शामिल है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में