23 Jul 2019, 05:58 HRS IST
  • बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • लता मंगेशकर ने धोनी से क्रिकेट को अलविदा नहीं कहने की अपील की

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 16:34 HRS IST

मुंबई, 11 जुलाई (भाषा) विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार के बाद भले ही महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट को अलविदा कहने की अटकलें लगाई जा रही हो लेकिन सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने उनसे ऐसा नहीं करने की अपील की ।

अपने क्रिकेट प्रेम के लिये मशहूर भारत रत्न इस पार्श्वगायिका ने ट्विटर पर लिखा कि देश को धोनी की जरूरत है ।

बुधवार को न्यूजीलैंड से सेमी फाइनल मैच 18 रन से हारने के बाद भारतीय टीम आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 से बाहर हो गई थी ।

मंगेशकर ने ट्वीट किया, ‘‘नमस्कार धोनी जी। आज कल मैं सुन रही हूं कि आप रिटायर होना चाहते हैं। कृपया आप ऐसा मत सोचिए। देश को आप के खेल की जरूरत है और ये मेरा भी अनुरोध है कि रिटायरमेंट का विचार भी आप मन में मत लाइये।’’

उन्होंने भारतीय टीम का समर्थन करते हुए यह भी कहा ,‘‘ खेल भले ही हम जीत नहीं पाये लेकिन हम हारे नहीं हैं ।’’

उन्होंने गुलजार का लिखा गीत ‘आकाश के उस पार भी आकाश है ’ भारतीय टीम को समर्पित किया ।

लता का क्रिकेट प्रेम किसी से छिपा नहीं है । कपिल देव की कप्तानी भारतीय टीम जब 1983 में विश्व कप जीती थी तब उन्होंने टीम के लिये एक कन्सर्ट का आयोजन किया था । चैम्पियन बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर उन्हें मां समान मानते हैं और वह भी रिश्ता इतनी ही शिद्दत से निभाती आई हैं ।

बड़े मैचों में टीम की जीत के लिये शुभकामनायें देना वह कभी नहीं भूलती । यही नहीं विश्व कप 2011 के मैन आफ द टूर्नामेंट युवराज सिंह को कैंसर से उबरकर वापसी करने पर उन्होंने बधाई दी थी । विश्व कप 2011 में वानखेड़े स्टेडियम पर फाइनल में भारत को छक्का लगाकर जीत दिलाने वाले धोनी के बारे में उन्होंने लिखा था ,‘‘ अनहोनी को होनी कर दे, होनी को अनहोनी , रजनी , गजनी और धोनी ।’’

उस मैच को देखने के लिये ‘गजनी’ फेम आमिर खान, सुपरस्टार रजनीकांत भी दर्शक दीर्घा में मौजूद थे ।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।