23 Jul 2019, 05:59 HRS IST
  • बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • फेडरल रिजर्व प्रमुख के बयान से वैश्विक बाजारों में तेजी, सेंसेक्स 266 अंक मजबूत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:38 HRS IST

मुंबई, 11 जुलाई (भाषा) बीएसई सेंसेक्स में हाल की गिरावट पर विराम लगा और वैश्विक बाजार में मजबूत रुख के बीच धातु, वाहन और वित्तीय कंपनियों के शेयरों की अगुवाई में बीएसई सेंसेक्स बृहस्पतिवार को 266 अंक मजबूत हुआ। अमेरिकी फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पावेल के इस महीने के अंत में नीतिगत दर में कटौती के संकेत से वैश्विक बाजारों की धारणा मजबूत हुई है।

कारोबार के दौरान 335 अंक चढ़ने के बाद 30 शेयरों वाला सूचकांक 266.07 अंक यानी 0.69 प्रतिशत मजबूत होकर 38,823.11 पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सूचकांक ऊंचे में 38,892.50 तथा नीचे में 38,631.31 तक गया।

इसी प्रकार, नेशनल स्टाक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 84 अंक यानी 0.73 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,582.90 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 11,519.50 अंक से 11,599 के दायरे में रहा।

वैश्विक बाजारों को पावेल के बयान से बल मिला। उन्होंने संसद की एक समिति के समक्ष बुधवार को कहा कि केंद्रीय बैंक विभिन्न चुनौतियों के बीच वृद्धि को गति देने के लिये उपयुक्त कदम उठाएगा।

निवेशक इसी महीने में फेडरल रिजर्व की तरफ से नीतिगत दर में कटौती की उम्मीद कर रहे हैं।

सेंसेक्स के शेयरों में हीरो मोटो कार्प सर्वाधिक लाभ में रहा। यह 4.46 प्रतिशत मजबूत हुआ। इसके अलावा इंडसइंड बैंक, टाटा मोटर्स, वेदांता, एसबीआई, महिंद्रा एंड महिंद्रा, सन फार्मा, टाटा स्टील और एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी 3.63 प्रतिशत तक मजबूत हुए।

वहीं दूसरी तरफ टेक महिंद्रा , यस बैंक, टीसीएस, एल एंड टी, एक्सिस बैंक तथा एनटीपीसी 1.27 तक नीचे आये।

सैंकटम वेल्थ मैनेजमेंट के मुख्य निवेश अधिकारी सुनील शर्मा ने कहा, ‘‘फेडरल रिजर्व प्रमुख जेरोम पावेल के बयान से नीतिगत दर में कटौती के संकेत मिले हैं। इससे वैश्विक बाजारों में तेजी आयी और भारत इससे अछूता नहीं रहा...ब्याज दर में कटौती से नकदी की स्थिति वैश्विक स्तर पर सुधरेगी और अंतत: उभरते बाजारों में जाएगा जिससे निवेश धारण मजबूत होगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बजट का असर कमजोर हुआ है और अब ध्यान वैश्विक घटनाक्रम और कंपनियों के वित्तीय परिणाम की ओर गया है।’’

एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.08 प्रतिशत, हांगकांग का हैंग सेंग 0.81 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.51 प्रतिशत तथा दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.06 प्रतिशत मजबूत हुए।

यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी का रुख रहा।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में