15 Dec 2019, 02:4 HRS IST
  • असामान्य रूप से मौन हैं प्रधानमंत्री, सरकार को अर्थव्यवस्था की कोई खबर नहीं: चिदंबरम
    असामान्य रूप से मौन हैं प्रधानमंत्री, सरकार को अर्थव्यवस्था की कोई खबर नहीं: चिदंबरम
    तमिलनाडु में भारी बारिश से दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत
    तमिलनाडु में भारी बारिश से दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत
    झारखंड विस चुनाव: प्रथम चरण में सुबह 11 बजे तक 27.41 प्रतिशत मतदान
    झारखंड विस चुनाव: प्रथम चरण में सुबह 11 बजे तक 27.41 प्रतिशत मतदान
    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते हुये भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस
    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते हुये भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 150 अंक से अधिक की तेजी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 11:22 HRS IST

मुंबई, 11 सितंबर (भाषा) बुनियादी संरचना, बैंकिंग और वाहन कंपनियों के शेयरों में तेजी आने से बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 150 अंक से अधिक मजबूत हो गया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स एक समय 150 अंक से अधिक की तेजी में चल रहा था। हालांकि बाद में इसमें कुछ गिरावट आयी और यह 89.72 अंक यानी 0.24 प्रतिशत की तेजी के साथ 37,235.17 अंक पर चल रहा था। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 21.55 अंक यानी 0.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,024.60 अंक पर चल रहा था।

सोमवार को सेंसेक्स 163.68 अंक यानी 0.44 प्रतिशत की तेजी के साथ 37,145.45 अंक पर और निफ्टी 56.85 अंक यानी 0.52 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,003.05अंक पर बंद हुआ था।

मंगलवार को मुहर्रम के कारण शेयर बाजार बंद रहे थे।

सेंसेक्स की कंपनियों में येस बैंक, टाटा मोटर्स, वेदांता, टाटा स्टील, बजाज ऑटो, महिंद्रा एंड महिंद्रा, इंडसइंड बैंक, मारुति सुजुकी, भारतीय स्टेट बैंक और एलएंडटी में छह प्रतिशत तक की तेजी रही।

विशेषज्ञों के अनुसार, सकारात्मक वैश्विक संकेतों से बाजार की धारणा मजबूत हुई तथा सरकार के द्वारा अर्थव्यवस्था को सहारा देने के कदम उठाने से बाजार को उम्मीदें मिलीं।

प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार, सोमवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 188.08 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की। हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशक 686.47 करोड़ रुपये के शुद्ध खरीदार रहे।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।