16 Oct 2019, 08:51 HRS IST
  • मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • अखिलेश ने दिये शिवपाल की सदस्यता समाप्ति की याचिका वापस लेने के संकेत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 21:42 HRS IST

लखनऊ, 20 सितम्बर (भाषा) सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को अपने चाचा और जसवंतनगर से पार्टी विधायक शिवपाल सिंह यादव की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने की याचिका वापस लेने के संकेत दिये।

यहां प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश ने पूर्व में पार्टी से बगावत करने वाले तत्कालीन राज्यसभा सदस्य अमर सिंह और विधायक नितिन अग्रवाल की सदस्यता समाप्त करने की याचिका नहीं दिये जाने सम्बन्धी सवाल पर कहा, 'हम सबकी सिफारिश वापस ले लेंगे.... संतुष्ट! आप कह रहे हैं कि हमने उनके खिलाफ नहीं किया, तो हम सबकी वापस ले लेंगे।'

इस बीच मैनपुरी में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया के प्रमुख शिवपाल यादव ने कहा कि परिवार में एका की पूरी गुंजाइश है और "मेरी ओर से भी पूरी गुंजाइश है। लेकिन साजिश रचने वाले कुछ लोग परिवार को एक नहीं होने दे रहे हैं।"

अखिलेश ने एक अन्य सवाल पर कहा कि उनकी पार्टी के दरवाजे सबके लिये खुले हैं। जो आना चाहे, हम उसे आंख बंद करके पार्टी में शामिल कर लेंगे।

मालूम हो कि विधानसभा में सपा और विपक्ष के नेता राम गोविंद चौधरी ने गत चार सितम्बर को शिवपाल की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने की अर्जी दी थी।

जसवंत नगर सीट से सपा विधायक शिवपाल ने अखिलेश से तल्खी के बाद सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया था और पिछले लोकसभा चुनाव में सपा के खिलाफ कई जगह प्रत्याशी भी उतारे थे। हालांकि उन्हें कोई सफलता नहीं मिली थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।