26 May 2020, 16:1 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • घरेलू शेयर बाजार में तीसरे दिन तेजी, सेंसेक्स 292 अंक उछला

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:23 HRS IST

मुंबई , 15 अक्टूबर (भाषा) अमेरिका - चीन व्यापार समझौते को लेकर सकारात्मक खबरें आने और त्योहारी मौसम के चलते मांग में सुधार की उम्मीदों से मंगलवार को घरेलू शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन तेजी देखने को मिली।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 421 अंक की घट - बढ़ के बाद 291.62 अंक यानी 0.76 प्रतिशत बढ़कर 38,506.09 अंक पर बंद हुआ।

इसी प्रकार , नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 87.15 अंक यानी 0.77 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,428.30 अंक पर बंद हुआ।

वाहन और धातु कंपनियों के शेयरों में मजबूती से बाजार में तेजी देखने को मिली।

सेंसेक्स की कंपनियों में सबसे ज्यादा तेजी वेदांता , महिंद्रा एंड महिंद्रा , ओएनजीसी , हीरो मोटोकॉर्प , मारुति और हिंदुस्तान यूनिलीवर में रही। इनमें 3.79 प्रतिशत तक की तेजी आई।

वहीं , दूसरी ओर भारती एयरटेल , इंफोसिस , टाटा मोटर्स , एचसीएल टेक , टेक महिंद्रा और बजाज फाइनेंस के शेयर 2.53 प्रतिशत तक गिर गए।

सेंसेक्स की 30 में से 24 कंपनियों के शेयर बढ़त के साथ जबकि 6 गिरकर बंद हुए।

पिछले तीन कारोबारी दिवस में सेंसेक्स 625.69 अंक यानी 1.64 प्रतिशत जबकि निफ्टी 193.75 अंक यानी 1.71 प्रतिशत बढ़ा।



जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा , " अमेरिका - चीन व्यापार वार्ता से सकारात्मक संकेत आने और त्योहारी सीजन को देखते हुए वाहन कंपनियों के शेयरों में तेजी से बाजार की धारणा मजबूत हुई। पिछले दो दिनों से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक शुद्ध खरीदार रहे। इससे वैश्विक बाजार में स्थिरता आई। "

विशेषज्ञों का मानना है कि केंद्रीय बैंक मौद्रिक नीति को लेकर नरम रुख को बरकरार रख सकता है और दिसंबर 2019 की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में नीतिगत दर में कटौती कर सकता है।

सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, खुदरा मुद्रास्फीति सितंबर में 14 महीने के उच्च स्तर 3.99 प्रतिशत पर पहुंच गयी। हालांकि, इस वृद्धि के बावजूद खुदरा महंगाई दर आरबीआई के चार प्रतिशत के दायरे में है।

वहीं, थोक मूल्य सूचकांक आधारित (डब्ल्यूपीआई) मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर तीन साल से अधिक के निचले स्तर 0.33 प्रतिशत पर रही।

एशिया में , शंघाई , हांगकांग में बाजार गिरावट के साथ बंद हुए जबकि सोल और तोक्यो के शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए।

यूरोपीय संघ के ब्रेक्जिट मामले के शीर्ष वार्ताकार के इस हफ्ते समझौता होने के संकेत देने के बाद यूरोप में शेयर बाजारों में दिन के शुरूआती दौर में सकारात्मक रुख दिखा।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।