07 Jul 2020, 21:59 HRS IST
  • प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
    सेना प्रमुख ने लद्दाख का दौरा कर हालात का जायजा लिया
    सेना प्रमुख ने लद्दाख का दौरा कर हालात का जायजा लिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • डब्ल्यूएचओ भ्रष्टाचार व चीन पर भरोसा खत्म करे तो फिर से शामिल करने पर हो सकता है विचार : अमेरिका

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:57 HRS IST

ललित के झा

वाशिंगटन, एक जून (भाषा) व्हाइट हाउस ने कहा है कि अगर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) भ्रष्टाचार तथा चीन पर भरोसा समाप्त करे तो अमेरिका वैश्विक निकाय में फिर से शामिल होने के बारे में विचार करेगा।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को डब्ल्यूएचओ के साथ अमेरिका के संबंधों को समाप्त कर दिया था। उन्होंने निकाय पर आरोप लगाया था कि उसने दुनिया भर में 3,70,000 से अधिक लोगों की जान लेने वाले कोरोना वायरस के बारे में दुनिया को गलत जानकारी दी तथा व चीन से मिला हुआ है।

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने रविवार को एबीसी न्यूज से कहा, ‘‘डब्ल्यूएचओ में सुधार की जरूरत है। राष्ट्रपति ने जो कहा है, अगर डब्ल्यूएचओ सुधार करता है और भ्रष्टाचार को समाप्त करता है तथा चीन पर निर्भरता को खत्म करता है, तो अमेरिका बहुत गंभीरता से वापस आने के बारे में विचार करेगा। ”

अमेरिका ने कहा है कि वह डब्ल्यूएचओ को जो करीब 40 करोड़ अमेरिकी डॉलर देता है, वह राशि अन्य अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य निकायों को दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि इस बीच हम वो 40 करोड़ डॉलर लेने जा रहे हैं जो अमेरिका खर्च करता है जबकि चीन डब्ल्यूएचओ पर चार करोड़ डॉलर खर्च करता है। हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि यह राशि अग्रिम पंक्ति में काम करने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को मिले।

उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ अफ्रीका में एड्स और एचआईवी पीड़ितों का जीवन नहीं बचा रहा है। यह काम अमेरिका और हमारे उदार करदाता कर रहे हैं। हम इसे डब्ल्यूएचओ के माध्यम से नहीं कर रहे हैं। हम इसे अमेरिका के रूप में कर रहे हैं।

ब्रायन ने कहा कि हम उसी पैसे को वापस लेने जा रहे हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि यह डॉक्टरों, रेड क्रॉस और दुनिया भर के अस्पतालों को मिले, जिन्हें इसकी आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह राशि एक भ्रष्ट अंतरराष्ट्रीय संगठन के माध्यम से नहीं जाएगी जिस पर चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का नियंत्रण है।

ब्रायन ने रविवार को ही सीएनएन चैनल पर प्रसारित एक अन्य टॉक शो में कहा कि चीन से निपटने के लिए अमेरिका के पास कई उपाय हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में