21 Oct 2020, 09:43 HRS IST
  • न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन.वी. रमण
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    गोयल को मिला उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    पीआईएल:सुशांत मामले में अर्णब की रिपोर्टिंग भ्रामक होने का दावा
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
    प्रतिकूल परिस्थितियों से निपटने की अभियान क्षमता दिखाई:भदौरिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • तालाब में डूबने से हाथी के शावक की मौत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:26 HRS IST

कोरबा, 17 अक्टूबर (भाषा) छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में तालाब में डूबने से हाथी के शावक की मौत हो गई है।

कोरबा जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले के कटघोरा वनमंडल के अंतर्गत लमना गांव के करीब तालाब में डूबने से हाथी के शावक की मौत हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि वन विभाग को लमना गांव के करीब 46 हाथियों के एक दल के पहुंचने की सूचना मिली थी। सूचना के बाद वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को दल की निगरानी करने के लिए भेजा गया था। हाथियों के दल के साथ पिछले माह जन्मा एक शावक भी था।

उन्होंने बताया कि कर्मचारी रात तीन बजे तक दल की निगरानी करते रहे। जब हाथियों का दल आगे बढ़ने लगा तब वन विभाग के कर्मचारी वहां से चले गए। इसके बाद हाथियों का दल वापस लौट आया और पानी पीने के लिए जंगल के समीप खेत के किनारे बने तालाब में उतर गया। इस दौरान शावक की डूबने से मौत हो गई।

अधिकारियों ने आशंका जताई है कि पानी पीने के दौरान शावक तालाब के मध्य में चला गया होगा और उसकी मौत हो गई होगी।

उन्होंने बताया कि आज तड़के जब वन विभाग के कर्मचारी वहां पहुंचे तब उन्होंने शावक के शव को तालाब में देखा। वहीं तालाब के करीब ही हाथियों का झुंड विचरण कर रहा था।

अधिकारियों ने बताया कि शावक के शव का पोस्टमार्टम करने बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया है। वन विभाग हाथियों पर निगरानी रखा हुआ है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।