14 Apr 2021, 22:51 HRS IST
  • दस राज्यों में रोजाना बढ़ रहे हैं कोविड-19 के नये मामले
    दस राज्यों में रोजाना बढ़ रहे हैं कोविड-19 के नये मामले
    त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब कोरोना वायरस से संक्रमित
    त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब कोरोना वायरस से संक्रमित
    मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति : फोर्ब्स
    मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति : फोर्ब्स
    दीदी को तिलक लगाने वालों,भगवा कपड़े पहनने वालों से दिक्कत: मोदी
    दीदी को तिलक लगाने वालों,भगवा कपड़े पहनने वालों से दिक्कत: मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • निलंबित पुलिसकर्मी सचिन वाजे को चिकित्सकीय जांच के लिए ले जाया गया अस्पताल

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:35 HRS IST

मुम्बई, आठ अप्रैल (भाषा) राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के अधिकारी निलंबित पुलिसकर्मी सचिन वाजे को बृहस्पतिवार को चिकित्सकीय जांच के लिए सरकारी जेजे अस्पताल ले गए।

दक्षिण मुम्बई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास 25 फरवरी को एक एसयूवी से जिलेटिन की छड़ें बरामद होने और फिर गाड़ी के मालिक मनसुख हिरन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद वाजे (49) एनआईए की जांच के घेरे में आए। वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया।

अधिकारी ने बताया कि एनआईए वाजे को बृहस्पतिवार दोपहर करीब 12 बजे अस्पताल ले गई।

अस्पताल से जुड़े़ एक सूत्र ने बताया कि वाजे की चिकित्सकीय जांच की गई और उन्हें वापस भेज दिया गया।

सूत्र ने कहा, ‘‘ संबंधित अधिकारियों को रिपोर्ट दे दी गई है।’’

गिरफ्तार किए जाने के बाद दूसरी बार वाजे को चिकित्सकीय जांच के लिए जेजे अस्पताल लाया गया।

वाजे ने बुधवार को एक पत्र में दावा किया है कि राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मुम्बई पुलिस में उनकी सेवाएं जारी रखने के लिए उनसे दो करोड़ रुपये की मांग की थी। वाजे ने यह भी आरोप लगाया कि राज्य मंत्री परब ने उनसे मुम्बई के कुछ ठेकेदारों से पैसे एकत्र करने को कहा था।

शिवसेना नेता परब ने वाजे के दावे को खारिज कर दिया है।

बंबई उच्च न्यायालय ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार और कदाचार के आरोपों की सीबीआई जांच का निर्देश दिया है। ये आरोप मुम्बई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने लगाये थे।

उच्च न्यायालय के आदेश के बाद सोमवार को देशमुख ने राज्य के गृह मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

विशेष एनआईए अदालत ने देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की प्रारंभिक जांच (पीई) के लिए केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को सचिन वाजे से पूछताछ करने की बुधवार को अनुमति दे दी थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।